अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निर्दलीयों के कुनबे ने बढ़ाया सस्पेंस

झारखंड के निर्दलीय मंत्रियों के कुनबे ने सीएम की कुर्सी के समीप पहुंच चुके झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरन की परशानी बढ़ा दी है। नौ में से छह निर्दलीय मंत्रियों ने एक साथ मिलकर तय किया कि वे दिल्ली नहीं जायेंगे। फिर उन्होंने रांची में एक साथ बैठकर रणनीति तय की और एक साथ इस्तीफा लेकर राजभवन पहुंचे। फिलहाल उन्होंने यह संदेश देने की कोशिश की है कि वे साथ-साथ हैं। मुख्यमंत्री मधु कोड़ा के दिल्ली से लौटते ही सूबे का राजनीतिक तापमान बढ़ गया। सबकी निगाहें निर्दलीयों पर जा टिकीं। कोड़ा ने उप मुख्यमंत्री स्टीफन मरांडी, मंत्री भानू प्रताप शाही, चंद्रप्रकाश चौधरी, जोबा मांझी और हरिनारायण राय के साथ सीएम आवास में लंबी बैठक की। इससे पूर्व भानू प्रताप के सरकारी आवास पर भी निर्दलीयों की बैठक हुई। चंद्रप्रकाश चौधरी और जोबा मांझी के दूत के रूप में नजम अंसारी आये। तीनों ने साथ-साथ भोजन किया, फिर लाल बत्ती वाली गाड़ी को छोड़कर होंडा सिटी से वे जोबा मांझी के घर पहुंचे। वहां आधे घंटे तक इनकी बातचीत हुई। फिर तीनों मंत्री सीएम आवास चले गये। सभी निर्दलीयों ने साथ-साथ चलने का संकल्प लिया। शाम ढलते-ढलते तय हुआ कि राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया। आगे वे किसे समर्थन करंगे, इसपर फिलहाल अगर-मगर बरकरार है। मधु कोड़ा ने कहा है कि यूपीए आलाकमान के निर्देश पर इस्तीफा तो दे दिया, लेकिन शिबू सोरन के समर्थन की गारंटी नहीं। कहा कि अब हम स्वतंत्र हैं। यह भी कहा कि शिबू सोरन की राह आसान नहीं होगी। बंधु तिर्की, कमलेश सिंह दिल्ली में और एनोस एक्का क्षेत्र में हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: निर्दलीयों के कुनबे ने बढ़ाया सस्पेंस