अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दिल्ली की नहीं सुनी निर्दलीयों ने

सियासत के खेल में बनते-बिगड़ते समीकरण में निर्दलीयों की भूमिका महत्वपूर्ण हो गयी है। निर्दलीय एकाुटता दिखा रहे हैं। इसी एकाुटता में उन्होंने दिल्ली बुलावे को भी ठुकराया। मधु कोड़ा-स्टीफन मरांडी के दिल्ली जाने के ऐन मौके पर ही निर्दलीयों ने सहमति बनायी थी कि दोनों (कोड़ा-स्टीफन) के लौटने पर इकट्ठे बैठ कर रुख तय करंगे। शुक्रवार की देर रात लालू प्रसाद की ओर से जोबा मांझी के पास सभी निर्दलीयों के साथ दिल्ली पहुंचने का संदेशा आया था। इसके बाद निर्दलीयों ने कोड़ा और स्टीफन से संपर्क साधा। बात हुई कि शनिवार को दो बजे तक दोनों लौट जायेंगे।ड्ढr शनिवार की सुबह से चंद्रप्रकाश चौधरी और भानूप्रताप शाही मिशन में लग गये। एनोस एक्का, हरिनारायण राय, जोबा मांझी से संपर्क साधा। दिन में अहमद पटेल तथा लालू प्रसाद ने निर्दलीयों के हाव-भाव की जानकारी ली। उन्हें पता चल गया कि निर्दलीय दिल्ली आने के मूड में नहीं हैं। रांची लौटने पर स्टीफन मधु कोड़ा के साथ सीएम आवास पहुंचे। इधर भानू समेत सभी मंत्री करीब साढ़े चार बजे सीएम के यहां गये। यहां से सभी राजभवन के लिए निकले।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दिल्ली की नहीं सुनी निर्दलीयों ने