DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोसी में बाढ़ प्रलय की चेतावनी है:सीएम

नेपाल के कुसहा में पूर्वी तटबंध टूटने के बाद से कोसी ने रौद्र रूप धारण कर लिया है। जिस तरह से हर क्षण कोसी अंचल के नये-नये इलाके बाढ़ की चपेट में आते जा रहे हैं उससे राज्य सरकार के होश उड़ गये हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों के सव्रेक्षण के बाद खुद स्वीकार किया कि बाढ़ नहीं यह प्रलय की चेतावनी है। मुख्यमंत्री ने लोगों से सचेत रहने को भी कहा। उन्होंने कहा कि वे प्रधानमंत्री से भी बाढ़ की विभीषिका व तबाही की चर्चा करंगे।ड्ढr ड्ढr सुपौल जिले के राघोपुर प्रखंड के सिमराही में बाढ़ पीड़ितों से मिलने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बाढ़ की त्रासदी और प्रलय से बचने के लिए हम साथ हैं। इस दौरान बाढ़ पीड़ितों और आमजनों का आक्रोश मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, जल संसाधन मंत्री को झेलना पड़ा। राहत वितरण नहीं होने की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने सुपौल के डीएम शरीफ आलम, एसपी श्याम कुमार और सहरसा के डीएम गरीब साहू को हटाने की घोषणा की। नीतीश ने कहा कि बाढ़ में फंसे लोगों की मदद के लिए पर्याप्त पुलिस बल, सैप और सेना को तैनात किया गया है। अगले तीन माह तक राहत प्रदान किया जाएगा। उन्होंेने कहा कि समस्या बहुत गंभीर है। बाढ़ पीड़ित धर्य और संयम रखें। उन्होंने कहा कि दस लाख लोगों को मधेपुरा व सुपौल में राहत दी जाएगी। उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि संकट का दौर है, पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि फंसे लोगों को बाहर निकालकर शिविर में रखने की व्यवस्था करं। जल संसाधन मंत्री विजेन्द्र प्रसाद यादव ने कहा कि कटाव के लिए मैं दोषी नहीं हूं, नेपाल में काम करने नहीं दिया गया।ड्ढr ड्ढr इस मौके पर आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव आर.के. सिंह को सीएम ने आवश्यक दिशा निर्देश भी दिये। वहीं पूर्णिया के गुलाबबाग स्थित बाजार समिति में उन्होंने राहत पैकेटों की गुणवत्ता का निरीक्षण किया तथा इस पर संतोष व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने पशुपालन विभाग में निदेशक एन. सरवन को सुपौल का जिलाधिकारी बनाने की घोषणा की। शरीफ आलम को कार्मिक विभाग में बुला लिया गया है। शाहरूख मजीद को सुपौल का नया एसपी बनाया गया है और श्याम कुमार को मुख्यालय बुलाया गया है। आईसीडीएस के निदेशक आर. लक्ष्मणन को सहरसा का नया जिलाधिकारी बनाया गया है जबकि गरीब साहू की सेवा कार्मिक विभाग को सौंपी गई है। राज्य सरकार की चूक से आया प्रलय:लालूड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। रलमंत्री लालू प्रसाद ने कोसी प्रक्षेत्र में आयी बाढ़ को प्रलय बताते हुए इसे राज्य सरकार की विफलता करार दिया है। प्रलय को राज्य सरकार की चूक बताते हुए उन्होंने कहा कि वे संप्रग प्रमुख श्रीमती सोनिया गांधी, प्रधानमंत्री एवं गृहमंत्री को राज्य की भयावह स्थिति से अवगत कराते हुए बिहार दौरा का आग्रह करंगे। बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का हवाई सव्रेक्षण करने के बाद पटना में उन्होंने कहा कि क्षति का अभी आकलन नहीं किया जा सकता है। राज्य सरकार की तैयारी नहीं थी। केन्द्र सरकार राज्य को हरसंभव मदद को तैयार है। सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के साथ केन्द्र से वार्ता के लिए भी वे तैयार हैं। उन्होंने प्रभावित इलाकों के लिए रल से मुफ्त में चारा-दाना ढोने की घोषणा की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोसी में बाढ़ प्रलय की चेतावनी है:सीएम