अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोड़ा ने समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया था : हेमलाल

झामुमो सांसद हेमलाल मुमरू ने कहा है कि 22 अगस्त को दिल्ली में यूपीए नेताओं की तीन घंटे तक मैराथन बैठक चली थी। बैठक के बाद एक मसौदा बना था। मसौदे पर यूपीए के वरिष्ठ नेताओं के साथ ही शिबू सोरन और मधुकोड़ा ने भी हस्ताक्षर किया था। झारखंड आकर कोड़ा पलट गये। मुमरू ने बताया कि मसौदे में गुरुाी को सीएम बनाने और मधुकोड़ा को स्टियरिंग कमेटी का अध्यक्ष बनाने की बात थी। मंत्रियों के विभाग में कोई फेरबदल नहीं करना था। 23 अगस्त को दिल्ली से रांची लौट कर मधुकोड़ा को इस्तीफा देना था। गुरुाी को सीएम बनाने में सहयोग करने की बात भी थी। उन्होंने भरोसा जताया कि निर्दलीयों के सहयोग से शिबू सोरन सीएम बन जायेंगे।ड्ढr झारखंड को स्थिर सरकार मिले : मोरचाड्ढr रांची। झारखंड आंदोलनकारी मोरचा की बैठक रविवार को बिनोद कुमार भगत की अध्यक्षता में हुई। राज्य में राजनीतिक अस्थिरता पर विचार किया गया। राज्यपाल की भूमिका पर संतोष व्यक्त किया गया। उनसे अपेक्षा की गयी कि वह स्थायी सरकार के गठन में महत्वर्ण भूमिका निभायेंगे। शिबू सोरन के मुख्यमंत्री बनने की संभावना पर प्रसन्नता व्यक्त की गयी। कहा गया कि राज्य गठन के आठवें साल में एक आंदोलनकारी नेता सीएम की कुर्सी पर बैठने जा जा रहे हैं। विमल कच्छप, मुमताज खान, संजय तिर्की, जयश्री दास, जीटा एक्का, जेडी तिग्गा, धनेश्वर ओहदार, महाबीर विश्वकर्मा बैठक में शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोड़ा ने समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किया था : हेमलाल