DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालू का है अंदाज-ए-बयां और

राजद अध्यक्ष और रलमंत्री लालू प्रसाद यादव ने कहा है कि दिल्ली में प्रणव मुखर्जी के आवास पर हुई बैठक में जो समझौता हुआ था उसके अनुसार मधु कोड़ा स्टीयरिंग कमेटी के चेयरमैन बनाये जायेंगे। उसी बैठक में यह तय हुआ था कि मधु कोड़ा शिबू सोरन के पक्ष में इस्तीफा देंगे।ड्ढr यूपीए का पूरा कुनबा भी गुरुाी का समर्थन करगा। उनकी सरकार बनाने के लिए रास्ता साफ करगा। उन्होंने संवाददाताओं को उस समझौते का पत्र भी दिखाया जिसमें शिबू सोरन, मधु कोड़ा और स्टीफन मरांडी के हस्ताक्षर हैं।ड्ढr लालू ने बताया कि कोड़ा ने पद से इस्तीफा देने के बाद समर्थन नहीं करने की बात कही थी। उन्होंने सोमवार को रांची पहुंच कर कोड़ा को समझाया-बुझाया। वह मान गये। जिसके बाद राज्यपाल को 42 विधायकों के समर्थन का पत्र सौंप दिया गया है। उसमें आजसू छोड़ यूपीए के सभी विधायकों का समर्थन पत्र है। एक फॉरवर्ड ब्लॉक की अपर्णा सेनगुप्ता का भी नाम है। अब राज्यपाल के ऊपर है कि कब वह शपथ ग्रहण के लिए गुरुाी को बुलायेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य हित में झगड़ा ठीक नहीं है। मीडिया भी यूपीए सरकार को सपोर्ट कर। गलत मेसेज नहीं दे। निर्दलीय विधायकों की भूमिका पर उन्होंने कहा कि जब बारात आती है, तो गोतिया देयाद ना नुकूर करता ही है।कार्यालय संवाददाता रांची राजद अध्यक्ष सह रल मंत्री लालू प्रसाद ने कहा है कि यूपीए के सभी घटक दलों ने मिलकर शिबू सोरन को मुख्यमंत्री चुना है। इसलिए सभी नेता उन्हें सरकार चलाने में पूरी मदद करंगे। खंडित जनादेश मिलने के कारण ही झारखंड में ऐसी स्थिति बनी है। न्यूनतम साझा कार्यक्रम के आधार पर शिबू सोरन की सरकार काम करगी।ड्ढr सरकार गरीबों, अल्पसंख्यकों, दलितों एवं आदिवासियों के कल्याण के लिए काम करगी। वह सोमवार को बीएनआर होटल के प्रांगण में मीडिया से बातें कर रहे थे। कहा कि राज्य की स्टीयरिंग कमेटी के मार्गदर्शन में यूपीए घटक दल काम करंगे।ड्ढr विधायकों को निर्देशड्ढr लालू प्रसाद ने राजद विधायक दल की नेता अन्नपूर्णा देवी, विधायक गरिनाथ सिंह, विदेश सिंह, रामचन्द्र सिंह, प्रकाश राम, उदयशंकर सिंह, रामचन्द्र चन्द्रवंशी, सांसद घुरन राम, पूर्व विधायक संजय सिंह यादव एवं संजय प्रसाद यादव से बातचीत की। विधायकों से कहा कि शिबू की सरकार चलाने में सहयोग करं। ऐसा कोई काम नहीं करं, जिससे यूपीए कमजोर हो। लालू से मिलनेवालों में सुधीर महतो, निर्दलीय विधायक कमलेश सिंह भी शामिल थे।ड्ढr लाठी चार्ज कीािएड्ढr बीएनआर होटल कैंपस में कार्यकर्ताओं सहित अन्य लोगों की भीड़ थी । सभी लालू प्रसाद की एक झलक पाने और कुछ कार्यकर्ता उनका आशीर्वाद लेने को उत्सुक थे। शाम साढ़े पांच बजे जब लालू प्रसाद ने प्रेस कांफ्रेंस शुरू की, तो भीड़ ने उन्हें घेर लिया। लालू ने कहा: चलिए हटिए। यहां सिर्फ प्रेस के लोग रहेंगे। भीड़ जब नहंी हटी ,तो उन्होंने कहा : लाठी चार्ज कीािए। भीड़ हटाइये। प्रेस कांफ्रे ंस में केन्द्रीय मंत्री जयप्रकाश यादव अखिलेश प्रसाद और श्याम राक भी थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लालू का है अंदाज-ए-बयां और