DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कटे तटबंध पर काम शुरू: शरद

नेपाल के कुसहा के समीप कटे पूर्वी कोसी बाहोत्थान बांध पर जारी कटाव को रोकने के लिए बाढ़ संघर्षात्मक कार्य शुरू कर दिया गया है। देश के जाने-माने बाढ़ विशेषज्ञ नीलेन्दु सान्याल की अध्यक्षता में गठित तीन सदस्यीय कमेटी की सिफारिश पर टूटे तटबंध को जोड़ने के काम में देश की बड़ी कन्सट्रक्शन कम्पनी एच.सी.एल. को लगाया गया है। कोसी में बाढ़ की स्थिति का जायजा लेने के बाद दिल्ली रवाना होने से पूर्व हिन्दुस्तान से हुई बातचीत में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने यह जानकारी देते हुए बताया कि नेपाल से सहमति मिलने के बाद कटाव स्थल पर काम शुरू कर दिया गया है। श्री यादव ने बताया कि कटे तटबंध को पाटने के लिए दोनों ओर से बोल्डर क्रेटिंग किया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr इस कार्य पर 320 करोड़ राशि खर्च होगी। तत्काल 5 करोड़ राशि उपलब्ध करा दी गयी है। बाढ़ विशेषज्ञ श्री सान्याल की अध्यक्षता में गठित कमेटी में के.एन. लाल, और ब्रजनंदन प्रसाद शामिल हैं। जो शीघ्र ही कटाव स्थल का जायजा लेंगे। पूर्णिया और दरभंगा के चीफ इांीनियर की देखरख में कटाव निरोधी कार्य शुरू किया गया है। श्री यादव ने सुपौल, मधेपुरा और सहरसा में बाढ़ की स्थिति को भयावह बताते हुए कहा कि राज्य सरकार दोनों कामों में मुस्तैदी से जुटी है। एक तरफ रिलीफ में और तेजी आयी है। वहीं टूटे तटबंध को जोड़ने का काम भी शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि कोसी तटबंध को पुराने स्वरूप में और कोसी की मुड़ी धारा को पूर्ववत स्थिति में लाना मुख्य समस्या है। उन्होंने कहा कि बिहार के अन्य जिलों से नाव भेजी जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कटे तटबंध पर काम शुरू: शरद