अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सचिन और गेल केच मुरीद हैं बोल्ट

बीजिंग ओलंपिक में अपनी तूफानी गति से ट्रैक को थर्रा देने वाले जमैका के फर्राटा धावक यूसैन बोल्ट मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर और क्रिस गेल के भी मुरीद है। बीजिंग ओलंपिक में तीन विश्व रिकॉर्ड के साथ 100 मी. 200 मी. और चार गुणा 100 मीटर रिले के स्वर्ण जीतने वाले बोल्ट किशोरावस्था में क्रिकेटर बनाना चाहते थे। लेकिन उनके क्रिकेट कोच ने उनकी तेज दौड़ देखने के बाद फैसला किया कि वह ट्रैक एंड फील्ड में अपना भाग्य आजमाएं। भाग्य को भी शायद यही मंजूर था कि बोल्ट फर्राटा धावक बनें वरना वह एक तेज गेंदबाज बन गए होते और वेस्ट इंडीज की टीम में शामिल होते। बोल्ट ने इस वर्ष के शुरू में ‘बीबीसी’ से कहा था, ‘मैं जब युवा था तब मैंने क्रिकेट खेलना शुरू किया था। तब मेरे क्रिकेट कोच ने मेरी दौड़ देखी और फैसला किया कि मैं ट्रैक एंड फील्ड में अपनी किस्मत आजमाऊं। क्रिकेट सत्र में मैं ट्रेनिंग में अपने भाई की मदद करता था।’ विश्व रिकॉर्डधारी बोल्ट ट्रैक पर तो तूफानी गति से दौड़ते ही हैं, लेकिन साथ ही क्रिकेट भी देखना पसंद करते हैं। वह जमैका के ओपनर क्रिस गेल और भारत के सचिन को अपने दो सबसे पसंदीदा बल्लेबाज मानते हैं। उनके पसंदीदा क्रिकेटरों की फेहरिस्त में ऑस्ट्रेलिया के एडम गिलक्रिस्ट और मैथ्यू हेडन भी शामिल हैं। वैसे वेस्ट इंडीज में आज भी सबसे ज्यादा पसंद ‘लिटिल मास्टर’ सुनील गावस्कर को किया जाता है। लेकिन धरती के सबसे तेज धावक बोल्ट के पंसदीदा क्रिकेटर बन जाने के बाद निश्चित रूप से सचिन की वेस्ट इंडीज में लोकप्रियता में और इजाफा होगा। छह फुट पांच इंच लम्बे बोल्ट को सचिन की बल्लेबाजी का स्टाइल बहुत पसंद है। सचिन हालांकि लम्बाई में बोल्ट से एक फुट छोटे हैं। लेकिन क्रिकेट के मैदान में उनका कद सबसे ऊंचा है। सचिन खुद भी गति के काफी शौकीन है। उनके पसंदीदा खेलों में फार्मूला वन रेसिंग शामिल है। सचिन की तरफ से बोल्ट की प्रशंसा पर हालांकि अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। लेकिन निश्चित रूप से सचिन विश्व रिकॉर्डधारी बोल्ट जैसा प्रशंसक पाने से खुश जरूर होंगे। बोल्ट हालांकि मानते हैं कि यदि वह धावक नहीं बनते तो वह जरूर वेस्ट इंडीज की टीम में खेलते। हो सकता है कि उनका नाम वेस्ट इंडीज के दिग्गज तेज गेंदबाजों मैल्कम मार्शल, माइकल होल्डिंग, ज्योल गार्नर और एंडी राबर्ट्स के साथ शुमार किया जाता। लेकिन क्रिकेट के नुकसान से एथलेटिक्स को फायदा हुआ जिससे दुनिया को बोल्ट जैसा महान धावक मिल गया जिसने एक ओलंपिक में तीन विश्व रिकार्ड के साथ तीन स्वर्ण जीत लिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सचिन और गेल केच मुरीद हैं बोल्ट