अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सूबे में जलप्रलय के लिए नीतीश जिम्मेदार

बाढ़पीड़ितों की भयावह स्थिति से दो-चार होने के बाद केन्द्रीय मंत्री व लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामविलास पासवान ने कहा कि इस जलप्रलय के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही जिम्मेदार हैं। बुधवार को बाढ़पीड़ित दस जिलों का हवाई सर्वेक्षण कर लौटे श्री पासवान ने कहा कि बिहार में सुनामी नहीं सरकार का प्रकोप है। राहत-बचाव में फेल राज्य सरकार ने केन्द्र को भी धोखे में रखा। मुख्यमंत्री न सिर्फ जनता से माफी मांगें बल्कि यह स्वीकार करें कि स्थिति उनके नियंत्रण में नहीं है।ड्ढr ड्ढr श्री पासवान के निर्देश पर सेल ने एक करोड़ रुपये की दवा के साथ हालात का जायजा लेने के लिए छह डॉक्टरों की टीम भेजी है। लोजपा के सभी सांसद और विधानमंडल सदस्य एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दान करंगे। लोजपा प्रमुख गुरुवार को भी प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह के साथ बाढ़पीड़ित क्षेत्रों का दौरा करंगे। लोजपा कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में श्री पासवान ने कहा कि सबकुछ अंडरकंट्रोल होने का दावा करने वाले लोग बतायें कि सुनामी जैसा संकट क्यों आया? बाढ़पीड़ित जनता तो त्राहि-त्राहि कर ही रही है, अररिया में राज्यमंत्री नीतीश मिश्रा भी असहाय दिखे। कहीं भी प्रशासन जैसी कोई चीज नहीं है। बाढ़ में सबकुछ गवां बैठे लोगों के लिए न तो दवा का इंतजाम है और सिर छुपाने के लिए पॉलीथिन शीट ही दी गयी है। बह गये लोगों का कोई हिसाब नहीं है। राघोपुर, समस्तीपुर, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, मधेपुरा, कुशेश्वरस्थान, सहरसा और रोसड़ा पूर क्षेत्र में मात्र दो छोटी नावें दिखीं।ड्ढr ड्ढr छोटे-छोटे बच्चे, बूढ़े और महिलाएं जान बचाने के लिए रललाइन और बांध की शरण लिये हुए हैं। उन्हें भयावह स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। पूर्णिया से तीन जिलों के लिए एक-एक हेलीकॉप्टर 600-600 पैकेट गिराते हैं लेकिन लाखो लोगों के बीच छह सौ पैकेट से क्या होगा? श्री पासवान ने कहा कि नीतीश कुमार अपनी जिम्मेदारी केन्द्र के माथे थोपने की कोशिश कर रहे हैं जबकि उन्हें लोगों के जान-माल की रक्षा के उपाय करने चाहिए। बाढ़ पर राजनीति हो रही है। सीएम की कोई जिम्मेदारी है या नहीं। डीएम बदलने से कुछ नहीं होगा। तटबंध मरम्मत का दावा पूरी तरह खोखला : उपेन्दड्र्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राकांपा ने कहा है कि अगर बाढ़ से निपटने के लिए नीतीश सरकार पुख्ता प्रबंध कर ली होती तो यह प्रलय नहीं आती। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार का तटबंध मरम्मत पूरा कर लेने का दावा पूरी तरह खोखला साबित हो गया है। अब राहत कार्यो में सरकार की पोल खुल रही है। पिछले एक सप्ताह से सरकार और उसके अधिकारी हवाबाजी और बयानबाजी कर रहे हैं। लाखों लोगों की जान बाढ़ में फंसी हुई है और अधिकारी कागजी कार्रवाई में ही उलझे हुए हैं। कहीं राहत कार्य नहीं दिख रहा है। नावों की पुख्ता व्यवस्था नहीं है। लोग भूख-प्यास से मौत के दरवाजे पर खड़े हैं और यहां हेलीकॉप्टर से जिलाधिकारियों को ‘सैर’ कराया जा रहा है।ड्ढr श्री कुशवाहा ने बताया कि पार्टी का तीन दिवसीय राजनीतिक शिविर महात्मा फूले नगर, राजगीर (नालंदा) में 20 और 31 अगस्त को लगेगा। उद्घाटन पार्टी के बिहार प्रभारी व महाराष्ट्र के लोक निर्माण मंत्री छगन भुजबल करंगे। सम्मेलन में केन्द्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री सूर्यकांता पाटिल के अलावा राष्ट्रीय महासचिव सांसद तारिक अनवर, डी.पी. त्रिपाठी, मास्टर पिताम्बरण भी उपस्थित रहेंगे। बाढ़ पीड़ितों के बीच राहत कार्य तेज करंड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राकांपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने बिहार प्रदेश राकांपा से बाढ़पीड़ितों के बीच युद्धस्तर पर राहत कार्य चलाने को कहा है। श्री पवार ने बाढ़पीड़ितों के बीच राहत कार्य चलाने के लिए 25 लाख रुपए भी दिए हैं। यह जानकारी देते हुए पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव सांसद तारिक अनवर ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष ने पार्टी के सभी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को बाढ़ पीड़ितों के बीच जाकर राहत काम करने का निर्देश दिया है। इसके अलावा उन्हें पीड़ितों के लिए राहत शिविर चलाने को भी कहा गया है। श्री पवार ने राहत कार्य चलाने के लिए पार्टी के राहत कमेटी का भी गठन किया है। इस कमेटी के अध्यक्ष विधान पार्षद मोहनलाल अग्रवाल को बनाया गया है। कमेटी में 21 अन्य सदस्य भी होंगे। जिमें पूर्व विधायक अकील हैदर, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष उपेद्र कुशवाहा, पूर्व मंत्री करुणेश्वर सिंह, अजय सिंह, पूर्व विधायक मो. जलील, मो. शकूर, सुबोध पासवान, गुलाम हुसैन, सूरज यादव, किशोरी प्रसाद महतो, सी.पी. सिन्हा, रामबाबू शर्मा, अकील अहमद, अनिल सिंह कुशवाहा, विनोद कुमार मेहता, रामबाबू मेहता, अजय यादव, अरफराज अहमद, रामबिहारी सिंह, कामेश्वर सिंह और रामाश्रय प्रसाद कुशवाहा शामिल हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सूबे में जलप्रलय के लिए नीतीश जिम्मेदार