अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुरली-मेंडिस कचची उंगलियों पर नजर से कचचामयाबी : रैना

श्रीलंका के खिलाफ उसकी जमीन पर भारत की पहली वनडे सीरीज विजय में महत्वपूर्ण योगदान करने वाले बाएं हाथ के आकर्षक बल्लेबाज सुरेश रैना ने अपनी कामयाबी का राज खोला है। सुरश रैना ने कहा है कि अगर इन स्पिनरों की उंगलियों की हरकत पर नजर रखी जाए तो उन्हें आसानी से खेला जा सकता है। रैना का मानना है कि श्रीलंकाई स्पिनरों विशेषकर रहस्यमयी स्पिनर माने जाने वाले मेंडिस का जादू उनकी उंगलियों की जुम्बिश पर निर्भर है। उन्होंने मेंडिस की स्पिन की गुत्थी को सुलझाने के लिए उनकी उंगलियों की हरकत पर नजर रखकर सीधे बल्ले से खेलने की रणनीति अपनायी जो काफी काम आयी। श्रीलंका के खिलाफ मुरली-मेंडिस समेत श्रीलंका की अनुभवी गेंदबाजी के सामने रैना का चपल फुटवर्क और बेहतरीन शॉट चयन देखकर लोगों के जेहन में एक परिपक्व रैना की छवि चस्पा हो गयी है। श्रीलंका के खिलाफ भारत को सीरीज में अजेय बढ़त दिलाने वाले चौथे मैच में ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे इस बाएं हाथ के बल्लेबाज ने लम्बे समय बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी का श्रेय इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) को देते हुए कहा कि आईपीएल में खेलने से उन्हें एक बेखौफ बल्लेबाज के रूप में उभरने में काफी मदद मिली। रैना ने आईपीएल को अपने करियर का निर्णायक मोड़ करार देते हुए कहा कि इस लीग ने तीन साल बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी करने में उनकी बहुत मदद की। उन्होंने कहा, ‘मैंने आईपीएल से बहुत सीखा। इस लीग में खेलने से मेरी बड़े शॉट लगाने में होने वाली झिझक खत्म हो गई। साथ ही वरिष्ठ खिलाड़ियों के साथ एक बार फिर खेलने से मेरा आत्मविश्वास वापस लौट आया।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुरली-मेंडिस कचची उंगलियों पर नजर से कचचामयाबी : रैना