DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीएम की घोषणा से कांग्रेसी खुश

राज्य के बाढ़पीड़ितों के लिए प्रधानमंत्री की घोषणा से कांग्रेसी प्रसन्न हैं। उनका मानना है कि प्रधानमंत्री ने बिहार सरकार की मांग से ज्यादा अनुदान की घोषणा करके यह बता दिया है कि केन्द्र सरकार मदद के मामले में राजनीतिक भेदभाव नहीं करती है। केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री सह कांग्रेस के प्रवक्ता डा. शकील अहमद ने कहा है कि इस घोषणा से साबित हुआ है बिहार के बाढ़पीड़ित कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की चिंता के केन्द्र में हैं। प्रदेश कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता कुमार आशीष के अनुसार डा. अहमद ने कहा है कि बिहार की बाढ़ को राष्ट्रीय आपदा साबित करने का साफ मतलब है कि मदद आगे भी जारी रहेगी।ड्ढr ड्ढr अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सचिव एवं बिहार के प्रभारी सरदार इकबाल सिंह ने प्रधानमंत्री द्वारा बिहार के बाढ़ग्रस्त लोगों की राहत के लिए एक हाार दस करोड़ रुपये दिए जाने की घोषणा का स्वागत किया है। उन्होंने कांग्रेसियों से भी खुलकर मदद करने का आह्वान किया है। प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष अनिल कुमार शर्मा ने कहा है कि केन्द्र सरकार ने इस सहायता को देकर प्रमाणित कर दिया है कि कांग्रेस के समक्ष राजनीति नहीं जनता की सेवा करना प्राथमिक कार्य है। कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष मदन मोहन झा, समीर कुमार सिंह, डा. मो. जावेद, पूर्व मुख्य प्रवक्ता कृपानाथ पाठक, सेवा दल अध्यक्ष अजय कुमार चौधरी, पूर्व विधायक अमरनाथ तिवारी, युवा कांग्रेस अध्यक्ष तरुण कुमार, पूर्व महासचिव अशोक चौधरी, कपिलदेव प्रसाद यादव, ब्रजेश प्रसाद मुनन, प्रमोद कुमार सिंह और मुनेश्वर प्रसाद सिंह ने भी प्रधानमंत्री की घोषणा का स्वागत किया है। इधर कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अमलेन्दु कुमार पाण्डेय ने कहा है कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी की रिलीफ कमिटी भी बाढ़पीड़ितों के लिए राहत सामग्री भेज रही है।ड्ढr ड्ढr एक-दूसर को जेल भेजने की धमकी पर उतर कांग्रेसीड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। कांग्रेसी एक-दूसर के खिलाफ जबानी जमा खर्च करने के बाद अब सड़क पर उतरने और जेल भेज देने की धमकी पर उतर आए हैं। प्रदेश कांग्रेस कमिटी के पूर्व प्रवक्ता ई. शंभूनाथ सिन्हा ने अपने कारण बताओ नोटिस के जवाब में प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा को चुनौती दी है कि वे अपने आरोपों को न्यायिक प्रक्रिया के तहत शपथ पत्र के द्वारा प्रस्तुत करं। उन्होंने दावा किया है कि ऐसा करने पर वे दफा 420 के केस में सलाखों के अंदर पहुंच जाएंगे। श्री सिन्हा को कारण बताओ नोटिस कार्यकारी अध्यक्ष समीर कुमार सिंह ने दी है। श्री सिन्हा ने कहा है कि उन्होंने केवल 1में पार्टी छोड़ी थी और 1से वे कांग्रेस में ही हैं। उन्होंने इस आरोप को भी गलत बताया है कि उनके नेतृत्व में कभी सोनिया गांधी का पुतला फूंका गया था। उन्होंने कहा है कि यदि कोई यह साबित कर दे कि उन्होंने सोनिया गांधी के खिलाफ कोई वक्तव्य भी दिया है तो वे बिना शर्त गुलामी करंगे। चंदा उगाही के आरोप के खिलाफ वे न्यायालय जाने पर विचार कर रहे हैं। उन्होंने प्रदेश अध्यक्ष को एक बार फिर आप्रवासी बताते हुए उनके खिलाफ धरना देने की घोषणा की है।ड्ढr ड्ढr इधर कांग्रेस के श्रम प्रकोष्ठ के पूर्व महामंत्री शशांक शेखर और सचिव राजबहादुर सिंह ने युवा कांग्रेस के पूर्व उपाध्यक्ष संजीव कुमार को पार्टी से निलम्बित करने का विरोध किया है। दूसरी तरफ युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव मनोज शर्मा ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल शर्मा का विरोध करने वालों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीएम की घोषणा से कांग्रेसी खुश