DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्तराखंड में डेल्टा की ग्रीन फैक्टरी

उत्तराखंड को गुरुवार को लेटेस्ट इलेक्ट्रॉनिक सामानों की ग्रीन फैक्टरी हासिल हुई जो इस प्राकृतिक सौंदर्य से संपन्न राज्य में सौ फीसदी अपनी तरह की पहली ग्रीन फैक्टरी है। डेल्टा समूह द्वारा 120 करोड रुपए की लागत से बनाई गई इस फैक्टरी को पूरी तरह से इको फ्रेंडली बनाया गया है। बिल्डिंग से लेकर सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट को पर्यावरणीय अनुकूलता को ध्यान में रखकर बनाया गया है। कंपनी के उपाध्यक्ष तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारी यांसी हई ने कहा कि यहां निर्मित सामान का दस प्रतिशत हिस्सा पड़ोसी देशों में निर्यात किया जाएगा। हई ने दावा किया कि देश में यह पहली ग्रीन फैक्ट्री है। बिल्डिंग तैयार करने में फ्लाई एश,एल्यूमिनियम, स्टील, जिप्सम, एमवीएफ बोर्ड सरीखे पदार्थो का उपयोग किया गया है जिनको दुबारा रीसाइकिल किया जा सके। वहीं ग्लोबल वार्मिंग के खतरों से बचाव के लिए एयरकंडीशनर में आर 407 गैस का इस्तेमाल किया गया है। 16,658 वर्ग मीटर में फैले इस संयंत्र का निर्माण इस तरह से किया गया है कि दिन में किसी भी कोने पर लाइट जलाने की जरूरत नहीं पड़े। संयंत्र का 60 फीसदी से ज्यादा हिस्से में बाहर से रोशनी आती है और वहां दिन में बिजली का इस्तेमाल किए बिना भी काम किया जा सकता है। इस फैक्टरी में लगे सौर पैनलों की सहायता से तकरीबन 10 किलोवाट ऊरा पैदा होगी, जिससे फैक्टरी के लिए भी बिजली उत्पन्न की जा सकेगी। सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में एनॉबेरिक बैक्टीरिया की सहायता से पानी को रीसाइकिल करने की भी व्यवस्था है। इस पानी का इस्तेमाल बागवानी के अलावा और कई कामों में किया जा सकेगा। प्लांट में रन वाटर हारवेस्टिंग का भी इस्तेमाल किया गया है, जिससे बिजली बचाने के साथ, कार्बन के उत्सर्जन को भी कम किया जा सकेगा। डेल्टा इलेक्ट्रॉनिक्स (इंडिया) के मैनेजिंग डायरक्टर दलीप शर्मा ने कहा कि जिस तरह से दिन प्रतिदिन ग्लोबल वार्मिंग का प्रभाव तेजी से बढ़ रहा है, उससे पर्यावरण को खासी हानि पहुंच रही है। उन्होंने कहा कि कंपनी की अगले तीन साल में देश में सात करोड़ डालर के निवेश की योजना है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उत्तराखंड में डेल्टा की ग्रीन फैक्टरी