अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाटा ने सिंगुर से कर्मचारी हटाए

टाटा मोटर्स के सिंगुर संयंत्र में शुक्रवार को कोई कर्मचारी या अधिकारी काम पर नहीं आया। कहाोा रहा है कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बवाल से क्षुब्ध होकर टाटा मोटर्स ने नैनो प्लांट से अपने कर्मचारी हटा लिए हैं। उधर, केंद्र सरकार ने इस विवाद से पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि पश्चिम बंगाल सरकार को ही इस समस्या का हल खोना है।ड्ढr नैनो प्लांट में करीब 800 इांीनियर और 500 श्रमिक कार्यरत हैं। गुरुवार को पश्चिम बंगाल खेत मादूर समिति ने तृणमूल समर्थकों के साथ मिलकर वहाँ काम कर रहे करीब 300 मजदूरों को घेर लिया था। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप से ही श्रमिक बाहर निकल पाए। पुलिस ने श्रमिकों को धमकाने के आरोप में तृणमूल कार्यकर्ताओं के खिलाफ तीन मामले भी र्दा किए हैं। संयंत्र के अधिकारियों ने कहा है कि गुरुवार कोोिस तरह कर्मचारियों को घेरकर धमकाया गया है उसे देखते हुए कर्मचारियों-अधिकारियों को काम पर बुलाना मुनासिब नहीं है। गुरुवार को पश्चिम बंगाल खेत मादूर समिति ने कामगारों को रोका था। इस बाबत ममता ने कहा कि यदि उनकी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने यह हरकत की होती तो वह इसकीोिम्मेदारी ले लेतीं। उधर, दुर्गापुर एक्सप्रेस वे शुक्रवार को भी बंद रहा। हाईकोर्ट ने निर्देशोारी किए हैं कि सरकार एक्सप्रेस वे खुलवाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: टाटा ने सिंगुर से कर्मचारी हटाए