DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल ने पानी छोड़ा,कोसी का कोप बढ़ा

नेपाल से शुक्रवार को दो लाख अड़तालीस हाार क्यूसेक पानी छोड़ेोाने के बाद बिहार पर कोसी का कोप और बढ़ गया। कोसी प्रमंडल के सहरसा, सुपौल और मधेपुराोिले में लाखों लोग फँसे हैं। पूर्णिया, अररिया व कटिहार में भी स्थिति विषम बनी हुई है। कोसी नदी के पश्चिमी तटबंध में कटाव तेा हो गया है। बीच-बीच में हो रही बारिश व खराब मौसम के कारण एयर ड्रॉपिंग के साथ राहत व बचाव कार्य बाधित है।ड्ढr उधर, मधेपुरा के मुरलीगां में कोसी की धारा में राहत कर्मियों की दो नावें पलट गईं। इससे दो र्दान से अधिक लोगों की मौत हो गई। दोनों नावों पर 60 लोग सवार थे। 32 लोगों को बचा लिया गया। मृतकों में हवलदार और अफसर समेत कुछ राहतकर्मी शामिल हैं।ड्ढr इन परिस्थितियों के मद्देनार प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सेना की और अधिक टुकड़ियाँ बिहार भेजने का निर्देश दिया है। रेल मंत्री लालू प्रसाद ने राहत कार्य में मदद के लिए रेल परिवार की ओर से 0 करोड़ रुपए का कोष जमा करने का एलान किया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई सर्वदलीय बैठक में तय हुआ कि विधान सभा और विधान परिषद के सभी सदस्य अपने एक-एक महीने का वेतन बाढ़ पीड़ितों के लिए देंगे। ब्रिटेन ने कहा है कि वह 1.2 करोड़ रुपए के बराबर सहायता देगा।ड्ढr कोसी के कई प्रख्ांडों में अब भी लाखों फँसे हैं। खराब मौसम के कारण राहत गिराने वाले हेलीकॉप्टर नहीं उड़ पा रहे। अररिया में चार र्दान गाँवों में पानी घुस गया है। सहरसा और सुपौल मेंोलस्तर दो से तीन फुट बढ़ने से अफरा-तफरी की स्थिति है। प्रभावितों की तादाद 21.35 लाख तक पहुँच गई है। आधिकारिक तौर पर अब तक 12 व्यक्ितयों के मार जाने की पुष्टि हुई है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नेपाल ने पानी छोड़ा,कोसी का कोप बढ़ा