DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अफसरों पर बरसे गुरुचाी

विधानसभा में विश्वासमत हासिल करने के दूसर ही दिन 30 अगस्त को मुख्यमंत्री शिबू सोरन हेलीकॉप्टर से साहिबगंज पहुंचे। पार्टी के सांसद हेमलाल मुरमू के साथ आधे घंटे तक सााहिबगंज के अलावा राजमहल व उधवा प्रखंड के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का सव्रे किया। सव्रे के बाद उन्होंने नये परिसदन में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर बाढ़ राहत कार्यो की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होंने कई अफसरों की जम कर क्लास ली, कहा : जनता की आवाज नहीं सुननेवाले अफसर सस्पेंड होंगे। मुख्यमंत्री ने उपायुक्त से पूछा कि साहिबगंज जिले में कितनी पंचायतें बाढ़ से प्रभावित हैं? उपायुक्त ने बताया कि साहिबगंज की आठ और राजमहल व उधवा प्रखंड की चार-चार पंचायतें बाढ़ से प्रभावित हैं। शिबू ने इस बात पर नाराजगी जतायी कि जिले में 260 से अधिक गांव बाढ़ से प्रभावित होने के बावजूद जिला प्रशासन की ओर से अब तक महा 6क्िवंटल अनाज का ही वितरण ग्रामीणों के बीच किया गया है। उन्होंने कहा कि कम से कम ढाई हाार क्िवंटल अनाज का वितरण बाढ़ पीड़ितों के बीच किया जाये। मुख्यमंत्री ने तमाम प्रशासनिक पदाधिकारियों को बाढ़ राहत कार्यो में युद्धस्तर पर जुटने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सभी अफसरों की छुट्टी रद्द कर दी गयी है। बाढ़ राहत कार्यो में पुलिस पदाधिकारी भी हाथ बटायेंगे। बैठक में शिबू ने सिंचाई विभाग, कृषि विभाग, पेयजल व स्वच्छता विभाग और स्वास्थय विभाग के पदाधिकारियों की भी जमकर क्लॉस ली। उन्होंेने कहा कि वे सरकार के हेड हैं। जब वह विकास के पथ पर चलेंगे, तो टेल ( निर्दलीय मंत्रियों ) को भी उनके पीछे चलना ही होगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अफसरों पर बरसे गुरुचाी