DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत दौरे से भी चूक सकते हैं सायमंड्स

अनुशासन तोड़ने के आरोप में बांग्लादेश सीरीज से बाहर किए गए ऑस्ट्रेलिया के हरफनमौला क्रिकेटर एंड्रयू सायमंड्स को इस वर्ष के अंत में होने वाले भारत दौरे से भी हाथ धोना पड़ सकता है। सायमंड्स के एजेंट मैट फेरोन के मुताबिक सायमंड्स का अक्टूबर में भारत दौरा अनिश्चित है, हालांकि वह अपनी टीम में वापसी को लेकर प्रतिबद्ध हैं। फेरोन ने कहा कि जो कुछ भी हुआ उसपर विचार करने के लिए उन्हें कुछ समय चाहिए। बावजूद इसके वह क्रिकेट खेलने को आतुर हैं। उन्होंने ऐसा क्यों किया और उन्हें टीम से क्यों बाहर किया गया इसके बारे में कुछ नहीं जानता।ड्ढr गौरतलब है कि सायमंड्स को टीम की बैठक से अनुपस्थित रहने के चलते यहां चल रही बांग्लादेश सीरीज से बाहर कर दिया गया। उस वक्त वह मछली पकड़ने चले गए थे। ऑस्ट्रेलिया के कोच टीम नेल्सन का भी कहना था कि सायमंड्स का यह व्यवहार ठीक नहीं है और हाल के महीनों में उन्होंने जैसा आचरण किया है उससे टीम प्रबंधन चिंतित है। उन्होंने कहा कि सायमंड्स को छोड़कर सभी आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी टीम के प्रति सौ फीसदी जवाबदेह हैं। हालांकि ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर्स एसोसिएशन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पॉल मार्श ने आश्वस्त किया कि हाल की घटना अप्रत्याशित है, लेकिन एसोसिएशन पूरी तरह सायमंड्स के साथ है और वह उन्हें टीम में वापस लाने की पूरी कोशिश करेगा। उन्होंने कहा कि यह अजीब था, लेकिन पिछले दिनों कुछ ऐसे मुद्दे थे जिन पर विचार किया जाना जरुरी था। हम पूरी तरह सायमंड्स के साथ हैं। हम उनके मैनेजर के साथ वार्ता कर रहे हैं और उनके लिए यथासंभव मदद की गुंजाईश तलाश रहे हैं। अथर्टन ने स्तम्भ में लिखा है कि ऑस्ट्रेलिया ने वर्ष 1े बाद से एक बार भी पाकिस्तान का दौरा नहीं किया है। उसके लिए जयपुर और लंदन में हुए बम धमाकों की आवाजें कर्णप्रिय हैं। उन्होंने कहा कि चैम्पियंस ट्रॉफी टूर्नामेंट का स्थगन क्रिकेट पर दीर्घकालीन असर भले ही न डाले मगर इससे जुड़े कई और पहलू वाकई चिंता का विषय हैं। इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने लिखा कि कोई गलती नहीं करने के बावजूद क्रिकेट प्रशासक किसी देश को लाल झंडा दिखा देते हैं। चैम्पियंस ट्रॉफी का आयोजन सिर्फ इसलिए स्थगित किया गया क्योंकि ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैंड और इंग्लैंड को यह रास नहीं आ रहा था। उन्होंने लिखा कि ये टीमें पाकिस्तान नहीं जाना चाहती थी। उनके इस निर्णय को न तो पाकिस्तान सरकार की मान मनौव्वल बदल सकती थी और न ही उसके फौलादी सुरक्षा इंतजाम उनके फैसले को टस से मस कर सकते थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत दौरे से भी चूक सकते हैं सायमंड्स