DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेवा भावना के कारण विदेश से आ रहे मरीचा : बागड़ोदिया

नागरमल मोदी सेवा सदन का स्वर्ण जयंती समारोह रविवार को मारवाड़ी भवन में आयोजित हुआ। इस मौके पर केंद्रीय कोयला एवं खान राज्यमंत्री संतोष बागड़ोदिया ने कहा कि आज भारत में विदेश से लोग इलाज के लिए आ रहे हैं। इसका एक मात्र कारण इलाज का सस्ता होना नहीं, बल्कि अस्पतालों में सेवा भावना है। मारवाड़ी समाज द्वारा संचालित अस्पतालों में सेवा भावना देखने को मिलती है। इसके पूर्व समारोह का उद्घाटन उन्होंने दीप प्रज्जवलित कर किया। इस मौक पर अग्रवाल सम्मेलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदीप मित्तल, सुवटी देवी गाड़ोदिया ट्रस्ट कोलकाता के विश्वनाथ गाड़ोदिया उपस्थित थे। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि डॉक्टर मरीाों को बेहतर इलाज की सलाह दें। अग्रवाल और वैश्य समाज से दहेा प्रथा को समाप्त करने की दिशा में पहल करने की अपील की। इस मौके पर प्रदीप मित्तल ने कहा कि वैश्य-अग्रवाल समाज बिना किसी भेदभाव के सेवा भावना से समूचे देश में काम कर रहा है। राजनीति में समाज की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया और कहा कि वे यह देखें कि कौन सी पार्टी उनके समाज को सम्मान दे रही है। भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि उसने समाज को कुछ नहीं दिया। दूसरी तरफ कांग्रेस ने समाज को केंद्र सरकार में उचित प्रतिनिधित्व दिया है। वहां सात मंत्री वैश्य-अग्रवाल समाज के हैं। श्री मित्तल ने रांची में भगवान अग्रसेन की प्रतिमा लगाने को लेकर उठे विवाद को भी गलत बताया। विशिष्ठ अतिथि विश्वनाथ गाड़ोदिया ने भी अपने विचार रखे।ड्ढr इससे पूर्व सेवा सदन के अध्यक्ष राजकुमार केडिया ने कहा कि पांच बेड के मातृत्व अस्पताल से शुरू हुआ संस्थान आज 262 बेड के सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में तब्दील हो गया है। पूर्व अध्यक्ष केके पोद्दार ने सेवा सदन के इतिहास के बार में बताया।ड्ढr सचिव ओमप्रकाश सर्राफ ने घोषणा की कि स्वर्ण जयंती पर अस्पताल के स्थायी कर्मचारियों को 501 रुपये का फिक्स डिपोजिट दिया जायेगा। इसके अलावा अस्पताल में दवा एमआरपी से 15 प्रतिशत कम मूल्य पर मिलेगी। पैथोलॉजी जांच में भी 20 प्रतिशत की छूट मिलेगी। समारोह में सावरमल जी जालान, युगल किशोर मारू ने भी विचार रखे। समारोह में निर्मल मोदी, पूर्व सांसद अजय मारू, रामटहल चौधरी, किरण चितलांगिया, मनोज नरडी, वनवारी लाल पोद्दार, डॉ वीणा बियानी आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेवा भावना के कारण विदेश से आ रहे मरीचा : बागड़ोदिया