DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'फोन टैपिंग मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट करे केन्द्र सरकार'

'फोन टैपिंग मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट करे केन्द्र सरकार'

विपक्षी दलों के कथित फोन टैपिंग के मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट करने की मांग करते हुए भाजपा और जद(यू) ने आज कहा कि यह गंभीर मामला है और प्रधानमंत्री को इस पर स्पष्टीकरण देना चाहिए।
   
भाजपा उपाध्यक्ष मुख्तार अब्बास नकवी ने संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि सरकार लगातार जासूसी में लगी हुई है और सत्ता से जुड़े कई एजेंट हैं, जो नेताओं की जासूसी कर रहे हैं। पहले सरकार अपने ही मंत्रियों की जासूसी करती पाई गई और अब सहयोगियों और विपक्षी नेताओं की कर रही है। यह एक गंभीर मामला है।
   
मुख्य विपक्षी पार्टी ने मांग की कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को इस विषय पर स्पष्टीकरण देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर सरकार जितनी ऊर्जा जासूसी पर खर्च कर रही है, उसका 50 प्रतिशत देश की सुरक्षा और आतंकवाद एवं नक्सलवाद से मुकाबला करने पर खर्च किया जाए, तब देश को इसका फायदा होगा और सरकार को अपने दामन पर लगे कुछ दाग को धोने में मदद मिलेगी।
   
यह पूछे जाने पर कि क्या राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली के फोन की टैपिंग भाजपा में उनके विरोधियों की शह पर की गई, नकवी ने इससे साफ पर इंकार किया। जद (यू) प्रवक्ता और सांसद शिवानंद तिवारी ने कहा कि ऐसी खबरें है कि उनकी पार्टी के नेता एन के सिंह और सपा नेता रामगोपाल यादव के फोन की भी टैंपिंग की गई।
   
उन्होंने कहा कि फोन की टैपिंग कौन कर रहा है और कौन फोन टैपिंग की इजाजत दे रहा है। सबसे चिंता की बात यह है कि फोन टैपिंग करने की मशीन बड़ी संख्या में देश में लाई गई है और फोन टैप करना काफी आसान हो गया है।
   
तिवारी ने मांग की कि फोन टैपिंग करने वाले लोगों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिये जाएं। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि कोई सरकार नहीं है और कोई भी, जो चाह रहा है, कर रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'फोन टैपिंग मुद्दे पर स्थिति स्पष्ट करे केन्द्र सरकार'