अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिग बाजार में बम, दहशत में रहा शहर

राजधानी रांची भगवान भरोसे है। यह हकीकत रविवार को बेपर्द हो गयी। मेन रोड स्थित मल्टी शॉपिंग कांप्लेक्स बिग बाजार में रविवार शाम बम रखे जाने की खबर फैलने के बाद पूरी राजधानी पूर पांच घंटे तक दहशत में डूबी रही। जहां झारखंड की पूरी सरकार बैठती है, वहां पुलिस के पास एक अदद दस्ता तक नहीं, जो बम को डिफ्यूज कर पाता। कांप्लेक्स में बम पड़ा रहा और पुलिस दूर से टुकुर-टुकुर ताकती रही। यह हाल तब है, जब देश के कई शहरों में सिरियल ब्लास्ट के बाद राजधानी रांची को अलर्ट किया जा चुका है। इस एक घटना ने चुगली कर दी कि चाक-चौबंद सुरक्षा के दावे करनेवाली पुलिस का तंत्र कितना खोखला है। रात 11.30 बजे हाारीबाग से बम निरोधक दस्ता पहुंचा, तब जाकर इसका सुरक्षित तरीके से विस्फोट कराया जा सका।ड्ढr टाइमर लगा था बम के ऊपर : रविवार को छुट्टी का दिन होने की वजह से बिग बाजार में ग्राहकों की अच्छी-खासी भीड़ थी। शाम छह बजे कांप्लेक्स के पहले तल्ले तक जानेवाली सीढ़ी पर एक कोने में किसी ने डिब्बानुमा वस्तु के ऊपर घड़ी लगी देखी। इसके बाद कांप्लेक्स में बम होने की खबर आग की तरह फैली। वहां मौजूद लोग खरीदारी छोड़ बदहवासी के आलम में जसे-तैसे बाहर की ओर भागे। प्रबंधन ने पूर बाजार को खाली करा दिया गया।ड्ढr बम निरोधक दस्ता तक नहीं राजधानी में : कुछ ही मिनटों में बम की खबर पहले मेन रोड, फिर पूर शहर में फैली। अखबारों में फोन की घंटियां घनघनाने लगीं। हर तरफ अफरा-तफरी का आलम रहा। लोग सच्चाई जानना चाहते थे, लेकिन पुलिस-प्रशासन के पास कोई एसा तंत्र नहीं था जो कुछ कहने-बताने की स्थिति में था। पुलिस अधिकारियों के पसीने छूट रहे थे। श्वान दस्ता में शामिल कुत्ते लाये गये, लेकिन एहतियात के तौर पर कुत्ते को बमनुमा वस्तु के पास नहीं ले जाया गया। अंदेशा था कि कुत्ते द्वारा मुंह मारने या फिर पंजे से कुरदने से विस्फोट न हो जाये। डीसी अविनाश कुमार, एसएसपी एमएस भाटिया भी पहुंचे। पहले दीपाटोली सैन्य छावनी एवं सीआइएसएफ से संपर्क साधा गया। वहां से एक-एक बम विशेषज्ञ को भेजा गया। उन्होंने बमनुमा वस्तु का निरीक्षण भी किया, पर उसे डिफ्यूज नहीं किया जा सका।ड्ढr हाारीबाग से आया बम निरोधक दस्ता : देर रात हाारीबाग स्थित पीटीसी से बम निरोधी दस्ता के सदस्य उपकरणों के साथ बिग बाजार पहुंचे। दस्ते ने सुरक्षित तरीके से बम का विस्फोट कराया। दस्ते का कहना है कि बम की मारक क्षमता अधिक नहीं थी, लेकिन विस्फोट हो जाने की सूरत में भगदड़ मच सकती थी, तब जान-माल को भारी क्षति हो सकती थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिग बाजार में बम, दहशत में रहा शहर