अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एनएसजी में चीन न आएगा आड़े

अमेरिका, भारत और कई अन्य मित्र देशों की राजनयिक कोशिशें जारी हैं। पर, अभी भारतीय राजनयिकों को विश्वास नहीं कि चार सितंबर से होने वाली बैठक में भारत पर से न्यूक्िलयर सप्लायर्स ग्रुप के परमाणु प्रतिबंध खत्म हो ही जाएंगे। संकेत हैं कि न्यूजीलैंड और आस्ट्रिया अभी भी उन मुद्दों पर अड़े हैं, जो उन्होंने विगत बैठक में उठाये थे। कुल मिलाकर उनका समर्थन पन्द्रह देशों ने किया था। उधर, भारत ने कुछ लक्ष्मण रखा खींची है जिसका उल्लंघन वह स्वीकार नहीं करगा। इस बीच चीन सरकार ने इन आशंकाओं क ो खारिा किया है कि वह भारत को छूट दिलाने के मामले में अड़ंगा डालेगा। चायना डेली में प्रकाशित एक लेख में भारत को परमाणु छूट दिये जाने का विरोध किया गया था। इससे यह धारणा फैल गई थी कि चीन इस मामले में भारत का साथ नहीं देगा। लेकिन बीजिंग में चीन के विदेश मंत्रालय प्रवक्ता चियांग यू ने कहा कि हर देश को परमाणु ऊरा विकसित करने का अधिकार है। चीन भारत के मामले में सकारात्मक रवैया अपनाएगा। फिर भी अटकलें जारी हैं कि चार-पांच सितंबर को होने वाली वार्ता में संभवत: भारत को छूट देने का एलान नहीं हो सकेगा। अमेरिकी प्रस्ताव की सुधारी गई भाषा पर फिर कुछ संशोधन पेश किये जा सकते हैं। कहा जा रहा है कि ग्यारह-बारह सिंतबर को फिर बैठक का एक दौर हो सकता है, जिसे अंतिम प्रयास कहा जा सकता है। चीन के विदेश मंत्री रविवार को पहुंचेंगे भारत : चीन के विदेश मंत्री यांग चियेची रविवार को तीन दिन की भारत यात्रा पर पहुंच रहे हैं। उनकी प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह एवं विदेश मंत्री प्रणव मुखर्जी के साथ मुलाकात तय है। इस अवसर पर अरुणाचल प्रदेश सहित सीमा विवाद सुलझाने के मामले में हुई अब तक की प्रगति का जायजा लिया जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एनएसजी में चीन न आएगा आड़े