अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटना विवि के 250 शिक्षकों की प्रोन्नति का रास्ता साफ

पटना विवि के 250 शिक्षकों की प्रोन्नति का रास्ता साफ हो गया है। लंबे समय से विश्वविद्यालय में शिक्षकों को प्रोन्नति का लाभ नहीं मिला है। इसको लेकर शिक्षकों में काफी आक्रोश था और मांगें अब बढ़ने लगी थी। कर्मचारियों की हड़ताल से हलकान विवि प्रशासन शिक्षकों के किसी भी आंदोलन के लिए बिल्कुल तैयार नहीं है। बिहार राज्य विश्वविद्यालय सेवा आयोग के विघटन के बाद से अब तक विवि शिक्षक प्रोन्नति की बाट जोह रहे हैं। इसको देखते हुए यूजीसी द्वारा आयोजित कैरियर एडवांसमेंट स्कीम के तहत शिक्षकों को प्रोन्नति का लाभ मिलेगा।ड्ढr ड्ढr इस योजना के तहत योग्य शिक्षकों को वर्तमान पद से प्रोन्नत किया जाएगा। इस स्थिति में व्याख्याता पद पर कार्य कर रहे शिक्षक प्रोन्नति का लाभ पाकर वरीय व्याख्याता बन जाएंगे। वहीं वरीय व्याख्याता रीडर के पद पर प्रोन्नत होंगे तो रीडर प्रोफेसर की श्रेणी में चले जाएंगे।विवि प्रशासन द्वारा पूरी योजना को तैयार कर ली गई है। इस योजना के लागू होने के साथ ही व्याख्याता को छोड़कर सभी पदों के वेतनमान में भी बढ़ोत्तरी होगी। वरीय व्याख्याता को 10-12 हाार रुपये का वेतनमान, रीडर को 16 हाार रुपये का वेतनमान और प्रोफेसर को 22,400 रुपये का वेतनमान मिलेगा। इस योजना को लागू करने की अधिसूचना शीघ्र ही जारी कर दी जाएगी। कुलसचिव डा. विभाष कुमार यादव ने बताया कि इस यूजीसी की योजना को लागू करने के संबंध में सहमति बन गयी है और शीघ्र ही इस पर आदेश जारी हो जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रोन्नति का लाभ पाने के योग्य शिक्षक 30 सितंबर तक आवेदन दे सकेंगे। इसके बाद आवेदनों की जांच कर उसमें से सबसे योग्य 250 शिक्षकों का चुनाव कर प्रोन्नति का लाभ मिलेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटना विवि के 250 शिक्षकों की प्रोन्नति का रास्ता साफ