अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मनीआर्डर का भुगतान राहत कैंप में भी

डाक विभाग बाढ़ कैम्प में जाकर मनीआर्डर पैसे का भुगतान करगा। यह निर्णय मंगलवार को डाक विभाग की उच्चस्तरीय बैठक में लिया गया। चीफ पोस्टमास्टर जनरल कमलेश्वर प्रसाद ने कहा कि भीषण बाढ़ में अगर किसी पीड़ित व्यक्ित के सगे-संबंधी अन्य जगहों से पैसा बाढ़ कैम्प के पते पर भेजते हैं तो उन्हें कैम्प में ही पैसे का भुगतान किया जाएगा। अगर कोई पीड़ित व्यक्ित दूसर शहर के डाकघर खाते से पैसा निकालना चाहता है तो वह अपना पैसा निकाल सकता है लेकिन उसके पास प्रमाणिक कागजात भी होना चाहिए।ड्ढr ड्ढr सभी डाकघरों में दान पेट्टी लटकाए जाएंगे ताकि लोग अपना दान उसमें जमा कर सकें और बाद में यह राशि बाढ़ पीड़ितों को दी जाए। डाक विभाग के सभी पदाधिकारी व कर्मचारी एक दिन का वेतन बाढ़ राहत कोष में देंगे। इधर फुस्टाब के अध्यक्ष प्रो. रामजतन सिन्हा व फुटाब के कार्यकारी अध्यक्ष प्रो. के. बी. सिन्हा ने कहा कि सभी विश्वविद्यालय व महाविद्यालय के शिक्षक एक-एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देंगे। इसके अलावा अन्न व वस्त्र का भी प्रबंध किया जाएगा। बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के महामंत्री मंजुल कुमार दास ने मुख्य सचिव से अनुरोध किया है वे कर्मचारियों के एक दिन का वेतन बाढ़ पीडित को दिया जाए। इंटक के अध्यक्ष चन्द्र प्रकाश सिंह इंटक से संबद्ध ग्रामीण बैंक के सभी पदाधिकारी व कर्मचारी एक दिन का वेतन देंगे। इंदिरा गांधी ह्रदय रोग संस्थान कर्मचारी भी एक दिन का वेतन राहत कोष में जमा करंगे। प्रम यूथ फाउडेशन का एक स्वयंसेवक दल बाढं क्षेत्र के लिए रवाना हुआ है।ड्ढr ड्ढr प्रेमालोक मिशन स्कूल के द्वारा बुधवार को राजेन्द्र नगर स्टेशन पर राहत सामग्रियां बांटी जाएगी। विशेश्वरी देवी मेमोरियल के अध्यक्ष संजीव कुमार ने बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री एकत्रित की जा रही है। के. के. बिरला ग्रुप की उर्वरक इकाई पारादीप फॉस्फेट लिमिटेड भी पीड़ित परिवारों के बीच पैकेट वितरित कर रहा है। जदयू महिला प्रकोष्ठ राजेन्द्र नगर टर्मिनल पर चूड़ा व गुड वितरित किया। हिन्दू सेवा दल ने भी पटना जंक्शन पर भोजन व दवाई की व्यवस्था की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मनीआर्डर का भुगतान राहत कैंप में भी