अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिंगुर को टाटा का बॉय-बॉय

सिंगुर में हालात सुधरते न देख टाटा ने मंगलवार रात कहा कि वह अपनी लो कॉस्ट नैनो कार प्रोजेक्ट को बंगाल से किसी अन्य राज्य में स्थानांतरित करने के बार में विचार कर रहे हैं और इस संबंध में किसी भी समय फैसला लिया जा सकता है।ड्ढr उधर, टाटा के इस फैसले पर टिप्पणी करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि यह उनका अपना फैसला है। सूत्रों ने बताया कि रतना टाटा के सिंगापुर से लौटने के बाद ममता बनर्जी के सिंगुर में चल रहे धरने से उपजे हालात का जायजा लिया गया। इसके बाद प्रोजेक्ट स्थल में बदलाव के बार में टाटा मोटर्स मैनेजमेंट कमेटी की मंगलवार को हुई बैठक फैसला किया गया। कंपनी ने कहा है कि नैनो कार के निर्माण के लिए कंपनी विकल्प के तौर अपनी किसी यूनिट की तलाश कर रही है, जहां इस प्रोजेक्ट को चलाया जा सके। प्लांट और प्रोजेक्ट स्थल को स्थानांतरित करने की योजना तैयार की जा रही है। टाटा ने गुरुवार को ही सिंगुर से अपने सार कर्मचारियों के हटा लिया था।ड्ढr प. बंगाल के लिए दुर्भाग्यपूर्ण : बंगाल के उद्योग मंत्री निरुपम सेन ने टाटा मोटर्स के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। एक साक्षात्कार में सेन ने कहा, ‘आज का दिन पश्चिम बंगाल के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है। यह हमार लिए बहुत बुरा दिन है।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सिंगुर को टाटा का बॉय-बॉय