अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

थाईलैंड में बिगड़े हालात से पर्यटन व्यवसाय चौपट

थाईलैंड की राजधानी बैंकाक में आपातकाल लागू किए जाने के बाद उत्पन्न हालात का सबसे ज्यादा बुरा असर विदेशी मुद्रा अर्जित करने के प्रमुख माध्यम यानी पर्यटन व्यवसाय पर पड़ रहा है। बड़े पैमाने पर पर्यटकों ने देश के भ्रमण का कार्यक्रम रद्द कर दिया है। साथ ही कई अंतरराष्ट्रीय व्यापार समारोहों के लिए की गई बुकिंग भी रद्द कर दी गई है। राजधानी में आपातकाल लागू होने और सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों के आन्दोलन के चलते प्रमुख हवाई अड्डों को बंद किए जाने से देश में इस साल पर्यटन से 20 अरब डॉलर की धनराशि अर्जित करने के लक्ष्य को हासिल करना मुश्किल लग रहा है। देश में पर्यटन तथा अंतरराष्ट्रीय व्यापार कार्यक्रमों के लिए बुकिंग मुख्य रूप से सितम्बर से नवम्बर के बीच ही होती है मगर इस बार इसी माह में सरकार समर्थक और विरोधी गुटों के बीच हिंसक झड़प के बाद राजधानी में आपातकाल लगाए जाने से पर्यटन व्यवसाय की सम्भावनाओं पर खासा बुरा असर पड़ रहा है। विदेश मंत्रालय ने बैंकाक में राजनयिकों से कहा कि पर्यटकों को अपनी थाईलैंड यात्रा की योजना रद्द करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि हालात इतने खराब कतई नहीं हैं। मंत्रालय ने कहा कि थाईलैंड आसियान देशों के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक का आयोजन बुधवार को निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार ही करेगा। थाईलैंड कन्वेंशन एण्ड एक्िजबीशन ब्यूरो की निदेशक मालिनी किताफानिच ने बताया कि कई समारोह रद्द किए जा सकते हैं या उनके कार्यक्रम में बदलाव किए जाने की सम्भावना है। उन्होंने कहा, ‘फुकेत में 10 समारोहों का आयोजन रद्द किया जा चुका है। देश में राजनीतिक संकट हालांकि भले ही जल्द दूर कर लिया जाए मगर तब तक रद्द कार्यक्रमों की संख्या 20 तक पहुंच सकती है।’ सिंगापुर और दक्षिण कोरिया ने बैंकाक में ताजा हालात के मद्देनजर अपने नागरिकों से कहा है कि अगर बहुत जरूरी न हो तो वे थाईलैंड की यात्रा नहीं करें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: थाईलैंड में बिगड़े हालात से पर्यटन व्यवसाय चौपट