DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैगिंग मामले में आठ छात्रों को दंडित किया गया

एनआईटी प्रशासन ने बुधवार को रैगिंग मामले में आठ छात्रों को दोषी करार देते हुए उन्हें दंडित करने का निर्णय लिया है। इस मामले में 27 छात्रों को आरोपी बनाया गया था। लेकिन जांच में आठ को दोषी पाया गया। घटना में शामिल तृतीय वर्ष के छात्र मैनक नायक को एक साल के लिए संस्थान से निलंबित कर दिया गया है। वहीं सात अन्य छात्रों को भी दंडित किया गया है। इन छात्रों की सूची संस्थान के नोटिस बोर्ड पर चिपका दी गयी है। साथ ही संस्थान प्रशासन ने नौ छात्रों पर दर्ज प्राथमिकी को भी वापस लेते हुए नामजद छात्रों को पांच कंपनियों के कैंपस सेलेक्शन में बैठने देने पर रोक लगा दी है।ड्ढr रैगिंग की घटनाओं पर रोक लगाने के लिए संस्थान ने इस प्रकार के कठोर कदम उठाने का फैसला किया है। 22 अगस्त को हुई घटना के बाद 27 छात्रों को तत्काल निलंबित कर दिया गया था।ड्ढr ड्ढr इन सभी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। नोटिस का जवाब आने के बाद अनुशासन समिति ने दो दिनों तक उनसे एक-एक कर पूछताछ की और मंगलवार को दोषी छात्रों पर आरोप गठित कर दिया गया। निलंबित छात्रों में अंतिम वर्ष के चार, तृतीय वर्ष के नौ और द्वितीय वर्ष के 14 छात्र शामिल थे। बुधवार को आए अंतिम निर्णय में तृतीय वर्ष (2006-10) के छह और तृतीय वर्ष (2007-11) के दो छात्रों पर कार्रवाई की गयी है। संस्थान के निदेशक डा. यूसी राय ने कहा कि छात्रों के साथ काफी सहानुभूति बरती गयी है। उन्होंने कहा कि एक छात्र मैनक नायक (7206) को अनुशासन समिति द्वारा मुख्य दोषी ठहराया गया। इस कारण उसे कठोर दंड दिया गया।ड्ढr घटना में शामिल 2006-10 बैच के छात्र रांीत कांत, अमित कुमार राज व रौशन कुमार को तीन कंपनियों के कैंपस सेलेक्शन में बैठने से वंचित कर दिया गया है। वहीं रवि भारद्वाज को पांच व आशीष शर्मा को दो कंपनी के कैंपस सेलेक्शन से वंचित किया गया। साथ ही इन छात्रों को हॉस्टल में भी अब जगह नहीं मिल पाएगी। इसके अलावा इसी बैच के शांतनू बेहरा व रोहित कुमार को हॉस्टल से बाहर करते हुए भविष्य में भी इस सुविधा से वंचित कर दिया गया है। वहीं 2007-11 बैच के करणकांत शर्मा पर पांच हाार रुपये व बलजीत कुमार पर 500 रुपये का अर्थदंड लगाया गया है। उन्हें संस्थान प्रशासन को लिखित माफीनामा भी देने को कहा गया है। डीन डा. एसएम झा ने कहा कि पूरी सुनवाई के बाद यह आदेश जारी किया गया है। हमने छात्र हित का ध्यान रखा है। वहीं छात्र नेता मुकेश कुमार सिंह ने अंतिम वर्ष के छात्रों को माफी दिए जाने पर एनआईटी प्रशासन को धन्यवाद दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रैगिंग मामले में आठ छात्रों को दंडित किया गया