DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लग्चारी वाहन लुटेरा गिरोह का भंडाफोड़

किसी नामचीन निजी कंपनी का प्रतिनिधि बताकर फिर क म्पनी के काम से वाहन लेकर उसे पटना लाकर लूटने वाले गिरोह के चार सदस्यों को शास्त्रीनगर पुलिस ने मंगलवार की देर रात दबोच लिया। लूटे हुए वाहनों को खरीदने वाला व इस गिरोह का सरगना हीरा पुलिस के हाथ नहीं लग सका। पुलिस गिरोह के एक अन्य सदस्य बिट्टू (पानीटंकी, एसके पुरी) की भी तलाश में छापेमारी कर रही है। वहीं लुटेरों द्वारा मुगलसराय से भाड़े पर पटना लाकर लूटी गई बोलेरो को पुलिस ने बरामद कर लिया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार बीते 28 अगस्त को कुछ युवकों ने रांची से एक इंडिका (ोएच-01-डब्लू 1812) को पटना के लिए भाड़े पर बुक किया था।ड्ढr ड्ढr उसी दिन रात में पटेल नगर (पटना) पहुंचने पर उसमें बैठे युवकों ने इंडिका के ड्राइवर ऐनुल अंसारी को हथियार के बल पर गाड़ी से उतार दिया तथा उसका मोबाइल और रुपए भी लूट लिए। दूसर दिन गाड़ी मालिक ने जब ड्राइवर के मोबाइल पर फोन किया तो वह बंद मिला। फिर उसने उन युवकों में से एक जिसने अपना नंबर गाड़ी मालिक को दे रखा था को फोन किया तो उसने बताया कि उनलोगों ने 12 बजे रात में ही गाड़ी छोड़ दिया था। इसके बाद इस मामले की प्राथमिकी शास्त्रीनगर थाने में दर्ज करायी गई। थानाध्यक्ष कामोद प्रसाद, अपर थाना प्रभारी अरुण कुमार और इस कांड के अनुसंधानकर्ता लक्षमण झा ने लुटेरों के मोबाइल को सूत्र बनाते हुए छानबीन शुरू की।ड्ढr ड्ढr मंगलवार को मोनू कुमार उर्फ अभिषेक (गांधी नगर), विक्की कुमार (इंद्रपुरी), अविनाश कुमार (उज्जवल भवन, तारामंडल) एवं सोनू सिंह (इंद्रपुरी) को पुलिस ने दबोच लिया। इस गिरोह का एक सदस्य बिट्टू फरार होने में सफल हो गया। इन लुटेरों ने पुलिस को बताया कि लूटी गई इंडिका को आरा निवासी हीरा सिंह के हाथों 40 हाार रुपए में बेच दिया। इन्होंने यह भी स्वीकार किया कि पन्द्रह दिन पूर्व इनलोगों ने मुगलसराय से भाड़े पर लाए गए बोलेरो को भी लूटा था। पुलिस ने इसे वाहन चेकिंग के दौरान बुधवार को बरामद कर लिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि फरार हीरा और बिट्टू की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लग्चारी वाहन लुटेरा गिरोह का भंडाफोड़