DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परनक्सली चाहते क्या हैं बतायें : सीएम

मुख्यमंत्री शिबू सोरन बुधवार को प्रथम अपर सत्र जज राधामोहन तिवारी की कोर्ट में पेश हुए। इस मामले में कोर्ट में 313 दंड प्रक्रिया संहिता के तहत उनका बयान दर्ज किया गया। अपने बयान में गुरुाी ने खुद को निर्दोष बताते हुए कहा कि इस मुकदमे में उन्हें फंसा दिया गया है।ड्ढr मुकदमे की अगली तिथि तीन अक्तूबर तय की गयी है। बचाव पक्ष को अपना साक्ष्य देने के लिए मौका दिया गया है। बुधवार को श्री सोरेन भारी सुरक्षा के बीच गिरिडीह कोर्ट पहुंचे। वे सड़क मार्ग से बोकारो से यहां आये थे। उनके आगमन को लेकर कोर्ट परिसर में भारी सुरक्षा की व्यवस्था थी। लगभग पांच मिनट की कार्रवाई में अदालत ने उनसे पूछा कि क्या आपने कुड़को में दो लोगों की हत्या की है? इस पर गुरुाी ने कहा कि वे बेकसूर हैं और उनके खिलाफ गलत आरोप पत्र समर्पित किया गया है। अब इस मामले को सफाई साक्ष्य के लिए रखा गया है। संवाददाता गिरिडीह राज्य के मुख्यमंत्री शिबू सोरन ने कहा है कि भ्रष्टाचार पर लगाम कसने के लिए निगरानी से ज्यादा उन्हें जनता पर भरोसा है। वे भी चाहते हैं कि राज्य में भ्रष्टाचार पर रोक लगे, लेकिन इसके लिए जनता को जागरूक होना होगा। वे बुधवार को कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित करने के बाद पत्रकारों से बात कर रहे थे।ड्ढr पुलिस बहाली जल्द : धनबाद में पत्रकारों से बातचीत में सीएम ने कहा कि पुलिस बहाली की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी। उन्होंने झरिया के सवाल पर कहा कि इसे उााड़ा नही जायेगा, खाली कराया जायेगा। गुरुाी ने कहा कि नक्सली चाहते क्या हैं बतायें, सरकार उनसे वार्ता के लिए तैयार है। यह पूछे जाने पर कि क्या नक्सलियों के पुनर्वास या सरंडर की कोई नीति है, उन्होंने कहा कि वार्ता के बाद ही यह सब तय हो जायेगा।ड्ढr जनता चाहेगी, तो होगी मंत्रियों की संपत्ति की जांच: यह पूछे जाने पर कि झारखंड के मंत्रियों ने खूब धन अर्जित किया है, क्या उसकी जांच करायेंगे? उन्होंने कहा कि अगर यह जनता की आवाज बनेगी, तो इसकी जांच करायी जायेगी। भ्रष्टाचार के कारण राज्य की काफी बदनामी हो चुकी है, इस पर रोक लगायी जायेगी। उनका प्रयास होगा कि वे नियम-कानूनों को सख्ती से लागू करं।ड्ढr कोर्ट का आदेश आते ही पंचायत चुनाव: पंचायत चुनाव पर उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में आज ही इस पर सुनवाई थी। जसे ही आदेश मिलेगा, उसके दो माह के भीतर चुनाव करा लिया जायेगा।ड्ढr छठे वेतन आयोग की रिपोर्ट जल्द लागू होगी: यह पूछे जाने पर कि छठे वेतन आयोग की सिफारिश कब तक लागू की जायेगी, उन्होंने कहा कि इसे जल्द ही लागू कर दिया जायेगा। सूबे की विधि व्यवस्था दुरुस्त करने की कोशिश की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: परनक्सली चाहते क्या हैं बतायें : सीएम