अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नैनो पर वार्ता शुरू होने के तुरंत बाद स्थगित

पश्चिम बंगाल सरकार और विपक्षी तृणमूल कांग्रेस के बीच सिंगुर में टाटा की नैनो कार फैक्ट्री पर जारी गतिरोध खत्म करने के लिए राज्यपाल कृष्णगोपाल गांधी की अध्यक्षता में हो रही वार्ता शुरू होने के कुछ मिनट बाद ही शाम चार बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। सत्तारूढ़ वाम मोर्चा सरकार की ओर से उद्योग मंत्री निरुपम सेन और तृणमूल कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता पार्थ चट्टोपाध्याय ने शुक्रवार सुबह राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात की। इसके तुरंत बाद राज्यपाल ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य सरकार वार्ता कुछ घंटे के लिए स्थगित करना चाहती है। इसको देखते हुए उन्होंने विपक्ष से शाम चार बजे फिर आने को कहा है। राज्यपाल गांधी ने गुरुवार को 400 एकड़ जमीन अधिग्रहण का विरोध करने वाले किसानों के प्रतिनिधिमंडल से भी मुलाकात की थी। गौरतलब है कि तृणमूल कांग्रेस के समर्थन से पिछले 24 अगस्त से किसानों का नैनो कार फैक्ट्री के दरवाजे पर विरोध प्रदर्शन जारी है। उनकी मांग है कि नैनो कारखाने के लिए अधिगृहीत एकड़ जमीन में से टाटा की सहायक कंपनियों के लिए अधिगृहीत 400 एकड़ जमीन किसानों को लौटा दी जाए। इसे देखते हुए टाटा समूह ने पिछले सप्ताह फैक्ट्री में काम रोक दिया। टाटा मोटर्स का कहना है कि काम जारी रखने से कर्मचारियों को खतरा हो सकता है। कंपनी ने प्रदर्शन जारी रहने की सूरत में कार परियोजना किसी अन्य राज्य में ले जाने की भी धमकी दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नैनो पर वार्ता शुरू होने के तुरंत बाद स्थगित