DA Image
26 जनवरी, 2020|1:57|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो दशक में दोगुनी होगी बाल वधुआें की संख्या

गरीब देशों में 18 साल की उम्र से पहले ही विवाह के बंधन में बांध दी जाने वाली लड़कियों की संख्या अगले दो दशकों में दोगुनी होकर 10 करोड़ हो जाएगी। इनमें से यादातर पर एड्स का खतरा भी गहरा जाएगा। एक अध्ययन में यह तथ्य सामने आया है। अध्ययन रिपोर्ट के मुताबिक विश्व में खाद्यान्न की बढ़ती किल्लत से हालात और खराब हो रहे हैं, क्योंकि इसकी वजह से लोग अपने परिवार पर बोझ को कम करने के लिए अपनी बेटियों की जल्द शादी कर देते हैं। इन लड़कियों को समय से पहले विवाह का खासा खामियाजा भुगतना पड़ता है। उनकी शिक्षा बीच में ही छूट जाती है और शरीर का समुचित विकास नहीं होने के कारण अनेक लड़कियां तो बच्चे को जन्म देते वक्त मर भी जाती हैं। अध्ययन की रिपोर्ट में कहा गया है कम उम्र में गर्भधारण और बच्चे को जन्म देने के समय मुश्किलें होना आम बात है। इससे मृत्यु दर तथा नजवात शिशु मृत्यु दर बढ़ने तथा जन्म के समय बच्चे का वजन कम होने का खतरा बढ़ जाता है। एक अनुमान के अनुसार दुनिया में 3500 लड़कियों की शादी 15 साल की उम्र पूरी करने से पहले ही कर दी जाती हैं। इसके साथ 21 हजार लड़कियां 18 वर्ष की होने से पहले ब्याह दी जाती हैं। अध्ययन के मुताबिक आने वाले समय में यह संख्या बढ़ेगी। अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कि कम उम्र में लड़कियों की शादी करने का सिलसिला हालांकि पूरे विश्व में जारी है मगर दक्षिण एशिया मध्य अमरीका और अफ्रीका के सहारा मरुस्थलीय इलाकों में ऐसी घटनाआें की संख्या काफी यादा है। बांग्लादेश में विवाह की दर सबसे यादा है। वहां 53 फीसदी लड़कियों की शादी 15 साल की उम्र से पहले ही कर दी जाती है। नाइजर में 38 प्रतिशत लड़कियां 15 साल की आयु से पहले ही विवाह के बंधन में बांध दी जाती है। इसके बाद चाड 35 फीसदी तथा इथोपिया और भारत की बारी आती है, जहां 31-31 प्रतिशत लड़कियों का विवाह 15 साल की उम्र से पहले ही कर दिया जाता है। अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है कि कच्ची उम्र में शादी के बाद जबरन यौन संबंध बनाए जाने से लड़कियों की त्वचा और तंतुआें को नुकसान पहुंचता है, जिससे उनमें संक्रमण का खतरा भी बढ़ जाता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: दो दशक में दोगुनी होगी बाल वधुआें की संख्या