अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्या हुआ जो बरपा है कहर, लड़ेंगे मिलकर

राजधानी के संवेदनशील लोगों द्वारा बिहार के बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ दान की गयी राहत सामग्री की पहली खेप शुक्रवार को राज्यपाल सैयद सिब्ते राी ने झंडी दिखाकर रवाना की। ट्रक में साढ़े नौ टन चूड़ा-गुड़ और 130 बंडल नये-पुराने कपड़े भेजे गये हैं।ड्ढr इसके साथ एलपी विद्यार्थी समाज शोध केंद्र की तरफ से 500 रुपये का चेक प्रधानमंत्री राहत कोष में जमा करने के लिए राज्यपाल को सौंपा गया। बिहार क्लब में पिछले दिनों प्रबुद्ध लोगों की बैठक के बाद जो राहत अभियान शुरू हुआ, उसके बाद जसे राजधानी के लोगों की संवेदना ही उमड़ आयी और बिहार क्लब स्थित केंद्रीय बाढ़ राहत संग्रह केंद्र में राहत सामग्री का अंबार लग गया। राज्यपाल ने कहा कि पीड़ितों की सहायता नेक काम है।ड्ढr राहत सामग्री एकत्र करने का काम सबसे पहले बिहार क्लब के सौजन्य से शुरू हुआ, जो अच्छी बात है। राजधानी के लोगों ने इसके पहले सुनामी के समय भी उदारता दिखायी थी। राी ने कहा कि अब बाढ़ पीड़ितों का पुनर्वास बड़ी समस्या है, जो काफी लंबा चलेगा। उन्होंने कहा कि हमार दिल में भी बिहार के बाढ़ पीड़ितों के लिए दर्द है और हमने भी इसके लिए अपील की है। उन्होंने कहा कि सामूहिक काम करना है। रडक्रास और महाविद्यालयों को भी मोटीवेट किया है। कुलपति से बात की है।ड्ढr राी को बताया गया कि ट्रक शनिवार की सुबह पूर्णिया पहुंचेगा और राहत सामग्री पूर्णिया के जिलाधिकारी को सौंपी जायेगी। प्रथम महिला चांद फरहाना ने भी इस बात पर खुशी जतायी कि राजधानी के लोगों ने उदारतापूर्वक दान दिया। प्रथम महिला यह जानकर द्रवित थीं कि अर्थ और साधनहीन लोगों ने भी पांच रुपये और एक किलो चूड़ा का दान कर बिहार के अपने दुखी भाइयों की मदद के लिए योगदान दिया।ड्ढr राहत सामग्री के साथ संजय सहाय, प्रोफेसर अनुज तिग्गा, सत्यप्रकाश मिश्र, राजू सिंह और किस्मत कुमार सिंह गये हैं, जो पूर्णिया में ही कैंप कर राहत सामग्री पीड़ितों तक पहुंचाने में प्रशासन का सहयोग करंगे।ड्ढr इस अवसर पर केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री सुबोधकांत सहाय, रांची विवि के कुलपति प्रो एए खान, विवि के प्रतिकुलपति डॉ सलिल कुमार राय, कुलसचिव प्रोफेसर एलएन भगत, डॉ ज्योति कुमार, डॉ प्रीतम कुमार, एसएस अख्तर, डॉ गंगा सिंह, मंगलेश्वर भगत, पत्रकार हरिनारायण सिंह, डॉ अजीत सहाय, डॉ शैलेश कुमार सिन्हा, प्रोफेसर दिलीप सिंह, राज्यपाल के प्रधान सचिव सुधीर त्रिपाठी, ओएसडी एके सेनगुप्ता, उपसचिव आरएस मोहंती, राजेश ठाकुर, श्यामानंद झा, सरोज कुमार, उदयशंकर ओझा, संजय सहाय, जय सिंह यादव, लेखानंद झा, प्रोफेसर आरके झा, राकेश शर्मा, प्रो बीआर झा, मुरारीलाल गुप्ता, रामधन बर्मन समेत गणमान्य लोग बड़ी संख्या में मौजूद थे। राहत अभियान में जुटा है चैंबर संवाददाता रांची बिहार के बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ चैंबर भवन में बड़ी संख्या में लोगों ने सामान और राशि जमा की। चैंबर द्वारा बनायी गयी समिति के संयोजक संजय सेठ ने बताया कि पंडरा स्थित आलू-प्याज व्यवसायी संघ की तरफ से 5250 किलो आलू बाढ़ पीड़ितों के सहायतार्थ दिया गया।ड्ढr रांची चैंबर की तरफ से एक ट्रक अनाज चैंबर को दिया गया। इसमें 180 बोरा चावल और 10 बोरा दाल है। ग्रीन सिटी गोल्फ कमेटी की तरफ से 51 हाार रुपये चैंबर के पास जमा किये गये। सेठ ने बताया कि बड़ी संख्या में लोग चैंबर भवन में सामान लेकर पहुंच रहे हैं। चैंबर के सदस्य सुबह 10 बजे से रात तक चैंबर में रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के साथ-साथ बिहार चैंबर के पदाधिकारियों को यहां से भेजी जा रही सामग्री दी जा रही है। सामान जुटाने में चैंबर अध्यक्ष मनोज नरडी, रांची चैंबर के सतीश तुल्स्यान, आनंद काबरा, सुभाष जालान , आलू-प्याजा थोक विक्रेता संघ के अध्यक्ष जयप्रकाश, अनिल गुप्ता, रामलखन प्रसाद, मदन प्रसाद, प्रदीप कुमार, अनिल आदि लगे हुए हैं।ड्ढr आज राहत सामग्री लेकर रवाना होगा ट्रकड्ढr चैंबर द्वारा जमा किये गये राहत सामग्री की खेप लेकर कई ट्रक शनिवार को सुबह 10.30 बजे राजभवन परिसर से बिहार के लिए रवाना होंगे। राज्यपाल सैयद सिब्ते राी ट्रकों को हरी झंडी दिखाकर रवाना करंगे। चैंबर अध्यक्ष मनोज नरडी ने सभी सदस्यों से अपील की है कि वे इस अवसर पर अवश्य उपस्थित हों।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: क्या हुआ जो बरपा है कहर, लड़ेंगे मिलकर