अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक अफसर ने अर्जित की 50 करोड़ की संपत्ति

बिहार राज्य भूमि विकास बैंक (बिहार- झारखंड) के पूर्व उप प्रबंध निदेशक ने अपने कार्यकाल में ही पचास करोड़ से से अधिक की संपत्ति अíजत कर ली। बैंक के तत्कालीन प्रबंध निदेशक व आईएएस अधिकारी जे आर के राव द्वारा उनके खिलाफ की गई जांच और उसकी रिपोर्ट भी सरकार को भेजी गई थी पर तब से अबतक यह मामला दबा रहा। वर्ष 2005-06 में श्री राव ने अपने प्रतिवेदन में यह उल्लेख किया था कि ऐसे अधिकारियों के कारण ही भूमि विकास बैंक की दुर्दशा हुई और बैंक कंगाली के कगार पर चला गया।ड्ढr ड्ढr इस प्रतिवेदन में जांच अधिकारी ने उक्त प्रबंध निदेशक के विरुद्ध कई और तल्ख टिप्पणियां करते हुए आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आलोक में उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करने की अनुशंसा भी की थी पर तीन साल तक यह जांच रिपोर्ट दबी रही। इसका खुलासा कुछ दिन पूर्व आरोपित अधिकारी के अवकाश ग्रहण करने के बाद हुआ।भूमि विकास बैंक (एलडीबी) के अध्यक्ष विजय कुमार सिंह ने बताया कि जांच अधिकारी की वह रिपोर्ट जिसे इतने दिनों दबा दिया गया था कि जानकारी मिलने पर उन्होंने उक्त रिटायर्ड अधिकारी पर प्राथमिकी दर्ज कराने का आदेश दे दिया है। उन्होंने बताया कि कुछ दिन पूर्व ही रिटायर्ड हुए इस अधिकारी के साथ बैंक के दो अन्य कर्मचारियों पर भी प्राथमिकी दर्ज करायी जाएगी। उन्होंने बताया कि आरोपित कपिल सिंह पर प्रशिक्षण के नाम पर राशि गबन करने के आरोप में एक अलग मामला सहकारिता निगरानी कोषांग में भी चल रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बैंक अफसर ने अर्जित की 50 करोड़ की संपत्ति