अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैशाली में दो समुदायों में झड़प, 12 घायल

शुक्रवार को अपराह्न महुआ थाना क्षेत्र के चकमजाहिद गांव में दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प में एक दर्जन लोग घायल हो गए जिसमें कुछ महिलाएं भी शामिल हैं। उत्तेजित लोगों ने एक व्यक्ति के घर में आग भी लगा दी। घायलों में सुरन्द्र भगत, अजरुन साह, कपिलदेव महतो, सुनील कुमार, रघुनाथ साह आदि को महुआ अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना का कारण मवेशी का मांस ले जा रहे एक समुदाय विशेष के व्यक्ति को बंधक बना थाने को सुपुर्द किया जाना बताया जाता है।ड्ढr ड्ढr घटना के बाद दोनों समुदायों के बीच काफी तनाव व्याप्त है। इधर सूचना मिलते ही जिला मुख्यालय से भी आलाधिकारी घटनास्थल की ओर रवाना हो गए। गांव में पुलिस कैंप कर रही है। प्राप्त जानकारी के अनुसार चकमजाहिद गांव का मो. शाहिद आज अपराह्न 3 बजे मवेशी का मांस लेकर अपने घर जा रहा था। इसी बीच उसी गांव के दूसर समुदाय के कुछ लोगों ने शंकरपुर मध्य विद्यालय के समीप उसे पकड़कर बंधक बना लिया तथा बाद में पुलिस को सूचना दी। सूचना पाकर महुआ थानाध्यक्ष साधुशरण ठाकुर के नेतृत्व में वहां पहुंची पुलिस काफी मशक्कत एवं विरोध झेलने के बाद शाहिद को गिरफ्तार कर थाने लाई। बताया जाता है कि शाहिद की गिरफ्तारी से आक्रोशित उसके मुहल्लेवालों ने परंपरागत धारदार हथियार से ताबड़तोड़ प्रहार कर कई महिलाओं समेत एक दर्जन लोगों को घायल कर दिया। इतना ही नहीं उत्तेजित लोगों ने सुखदेव महतो के घर में आग भी लगा दी जिससे आधा मकान जल गया।ड्ढr ड्ढr घटनास्थल पर एसडीओ मृत्युंजय कुमार, बीडीओ नवीन कुमार सिंह कैंप किए हुए थे तथा दोनों समुदाय के लोगों को समझा-बुझा रहे थे। मालूम हो कि एक माह पूर्व भी चकमजाहिद में चल रहे अवैध बूचडख़ानों को बंद कराने को लेकर एक संगठन के द्वारा जमकर आंदोलन चलाया गया था। तभी से गांव में तनाव की स्थिति बनी हुई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वैशाली में दो समुदायों में झड़प, 12 घायल