DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भेल और एचइसी के बीच एमओयू आज

एचइसी और भेल की ज्वाइंट वेंचर कंपनी के लिए दोनों के बीच छह सितंबर को एमओयू होगा। एमओयू पर एचइसी के सीएमडी जीके पिल्लइ और भेल के सीएमडी के रवि कुमार हस्ताक्षर करंगे। इस ऐतिहासिक मौके पर भारी उद्योग मंत्री संतोष मोहन देव, भारी उद्योग राज्य मंत्री रघुनाथ झा, केंद्रीय वाणिज्य एवं ऊरा राज्य मंत्री जयराम रमेश तथा केंद्रीय खाद्य व प्रसंस्करण राज्य मंत्री सुबोधकांत सहाय उपस्थित रहेंगे। इसके अलावा प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के प्रधान सचिव टीके नायर, भारी उद्योग मंत्रालय के सचिव डॉ एसएन दास, संयुक्त सचिव, अरुण सिंघल, अपर सचिव सुराीत मित्रा, निदेशक बीबी सिंह एवं अन्य अधिकारी उपस्थित रहेंगे।ड्ढr इस ज्वाइंट वेंचर कंपनी के नाम की घोषणा छह सितंबर को ही की जायेगी। इसमें एचइसी और भेल दोनों बराबर के साझीदार होंगे। भेल के पास वर्तमान में एक लाख करोड़ रुपये का कार्यादेश है। भेल ने एचइसी के साथ ज्वाइंट वेंचर कंपनी बनाने का निर्णय लिया। इसकी मंजूरी केंद्र सरकार से भी मिल गयी है। एचइसी का एफएफपी प्लांट इस ज्वाइंट वेंचर कंपनी की प्लांट होगी। भेल इस प्लांट का आधुनिकीकरण करगा। इसके बाद यहां कई नयी मशीनें भी लगायी जायेंगी।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भेल और एचइसी के बीच एमओयू आज