अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाटलिपुत्र कॉलोनी में निगम वसूलेगा टैक्स

पिछले पांच दशकों से अपने बूते बुनियादी सुविधाओं की व्यवस्था करने वाले पाटलिपुत्र कॉलोनी के वासियों को अब नगर निगम को होल्िंडग टैक्स देना होगा। नगर विकास एवं आवास विभाग के मंत्री भोला सिंह व प्रधान सचिव एस जलजा के साथ नगर निगम के पदाधिकारियों की सोमवार को हुई बैठक में टैक्स वसूलने का निर्णय लिया गया है।ड्ढr ड्ढr नूतन राजधानी अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी बीएन सिंह ने बताया कि सरकार के निर्देश पर पाटलिपुत्र व मैनपुरा से होल्डिंग टैक्स वसूलने की कार्रवाई शुरू होगी। पहले मंगलवार को लाउडस्कीपर से प्रचार कर कॉलोनी के लोगों का नगर निगम में स्वागत किया जायेगा। इसके बाद पाटलिपुत्र और मैनपुरा में शिविर लगाकर स्वकर निर्धारण के लिए फार्म बांटा जायेगा। जो व्यक्ित शिविर से फार्म नहीं लेंगे उन्हें घर पर पहुंचाया जायेगा। उन्होंने बताया कि स्वकर निर्धारण की प्रक्रिया समाप्त हो जाने के बाद छूटे होल्िंडगों की नापी की जायेगी। एक सप्ताह के अंदर होल्िंडगों को सूचीबद्ध करना शुरू कर दिया जायेगा। गौरतलब है कि अभी पाटलिपुत्र कॉलोनी में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करने की जिम्मेदारी पाटलिपुत्र वेलफेयर सोसाइटी की है। सोसाइटी के सचिव डा. ज्ञानशंकर ने बताया कि वर्ष 1में सोसाइटी का पंजीकरण हुआ और 1से मकान बनने शुरू हो गये। कॉलीनी में कुल 328 प्लॉट हैं। इनमें से 300 में मकान बने हैं। कॉलोनी के विकास में अब तक सरकार से मदद नहीं ली गई है। सोसाइटी ने अपने बूते बिजली, पेयजल, जलनिकासी व सफाई की व्यवस्था कर रखी है। 55 वर्ष पहले सरकारी अधिकारियों ने मिलकर 8.50 रुपए प्रति कठ्ठा की दर से जमीन की खरीद की थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाटलिपुत्र कॉलोनी में निगम वसूलेगा टैक्स