अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

5 साल का समझौता स्वीकार नहीं : दुबे

इंटक के जेबीसीसीआइ सदस्य चंद्रशेखर दुबे ने कहा कि स्वहित में मित्र यूनियन प्रतिनिधि पांच साल के वेतन समझौते की बात कर रहे हैं। इस अवधि के समझौते से कामगारों को काफी नुकसान होगा। वह मंगलवार को दरभंगा हाउस में प्रेस से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 4.25 लाख में 3.86 लाख मजदूर दस साल का समझौता चाहते हैं। प्रबंधन को भी यह बात समझनी होगी। इस मामले में वह पीएम डॉ मनमोहन सिंह से भी बात करंगे। पीएम कामगार का अहित नहीं होने देंगे।ड्ढr वह बुधवार को चेयरमैन से मिल कर अपनी बात रखेंगे। इसकी अनदेखी करने पर जोरदार अंदोलन होगा। कोल इंडिया मुख्यालय का घेराव होगा। एक दिन से लेकर बेमियादी हड़ताल भी होगी।ड्ढr ईमानदार पहल पर साथ देंगेड्ढr द झारखंड कोलियरी मजदूर यूनियन के महासचिव सनत मुखर्जी ने कहा कि ईमानदारी से पहल होने पर ही चंद्रशेखर दुबे का साथ देंगे। राजनीति से प्रेरित होने पर साथ नहीं देंगे। संगठन जमीनी लड़ाई लड़ रहा है। उन्होंने प्रबंधन से गैर मान्यता प्राप्त श्रमिक संगठन के प्रतिनिधियों की बात नहीं मानने की मांग की। उन्होंने कहा कि 0 फीसदी कामगार दस वर्षो का वेतन समझौता और बेहतर पैकेा चाहते हैं।ड्ढr ग्रुप एलआइसी का चेक सौंपाड्ढr सीसीएल के डीटीओ टीके नाग ने ओबीएस की ओर से मंगलवार को पूर्व एसइ स्व. मो इद्रीस के पुत्र जावेद अहमद सिद्दकी को एक लाख 20 हाार 157 रुपये के ग्रुप एलआइसी का चेक सौंपा। उनकी पोस्टिंग बोकारो कोलियरी में थी। सीसीएल ओबीएस ने दो लाख रुपये का चेक उनके पुत्र को पहले ही दिया गया था। मौके पर शैलेंद्र प्रसाद, आरएस सिंह, एके सिन्हा, विनय शंकर, अमित मुखर्जी, सुरेंद्र प्रताप सिंह भी मौजूद थे।ड्ढr अधिकारी का तबादलाड्ढr सीसीएल के पर्सनल विभाग के अधिकारी बी त्रिवेदी को सीआरएस बरकाकाना से कोल इंडिया और एएन सिन्हा को मुख्यालय से बीसीसीएल भेजा गया है। इएंडएम के एमके दास को हाारीबाग से बीसीसीएल भेजा गया है। उनका रिलीज ऑर्डर जारी हो गया। ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: 5 साल का समझौता स्वीकार नहीं : दुबे