DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रेलवे को हर दिन 15 करोड़ का होगा नुकसान

रेल प्रशासन द्वारा सीआइसी सेक्शन पर रल यातायात को अनिश्चिकाल के लिए बंद कर दिया गया है। कोयला ढुलाई के लिए सबसे महत्वपूर्ण माने जानेवाले इस सेक्शन से होकर हर दिन 30 से 35 मालगाड़ी गुजरती है।ड्ढr इसके अलावा नौ जोड़ी यात्री और एक्सप्रेस गाड़ियां भी चलती हैं। इन सभी को परिवर्तित मार्ग से चलाये जाने की व्यवस्था की गयी है। अनुमान के अनुसार सीआइसी सेक्शन से रलवे को हर दिन करीब 15 करोड़ रुपये की आय होती है। इसमें कोयला ढुलाई के एवज में प्रति रैक 40 लाख रुपये की आय भी शामिल है। इसके अलावा यात्री टिकटों की बिक्री और अन्य मालगाड़ियों से होनेवाली आय भी है। सीआइसी सेक्शन की यात्री ट्रेन627-628 बीडीएम (बरकाकाना-मुगलसराय)ड्ढr 1447-48 शक्ितपुंज एक्स. (हावड़ा-ाबलपुर)ड्ढr 3347-48 पलामू एक्सप्रेस (बरकाकाना-पटना)ड्ढr 8601-02 मुरी एक्सप्रेस (टाटा-रांची-ाम्मूृतवी)ड्ढr 610 चोपन पैसेंजर (गोमो-चोपन)ड्ढr 8311-12 इंटरसिटी (हटिया-बनारस)ड्ढr गरीब रथ (हटिया-नयी दिल्ली)ड्ढr राजधानी एक्सप्रेस (हटिया-नयी दिल्ली)ड्ढr चोपन एक्सप्रेस (रांची-चोपन)

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रेलवे को हर दिन 15 करोड़ का होगा नुकसान