DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कुख्यात ब्रजेश का आत्मसमर्पण

ुख्यात दस्यु सरदार और मोस्ट वांटेड अपराधी ब्रजेश पांडेय उर्फ हवलदार ने मंगलवार को बगहा के प्रभारी एसपी के समक्ष हथियार डाल आत्मसमर्पण किया। बगहा आरक्षी अधीक्षक कार्यालय परिसर में एक सादे समारोह में कुख्यात ने एक देशी राईफल एवं कारतूसों को एसपी अनुपम के एस को सौंपकर समाज की मुख्यधारा में शामिल होने की अपील की। गौरतलब है कि इस अपराधी के बार में ‘हिन्दुस्तान’ ने बीते पांच जुलाई को यह खुलाशा किया था कि मोस्ट वांटेड यह अपराधी इन दिनों पुलिस की नजरों से बचने के लिए धार्मिक स्थ्ल पुष्कर (राजस्थान)में स्थित कृष्ण गोशाला का महंत बना बैठा है।ड्ढr ड्ढr उस प्रकाशित समाचार केसाथ महंत के वेश में उसकी तस्वीर भी प्रकाशित हुई थी, पर मंगलवार को आत्मसमर्पण करने वाला ब्रजेश दूसर ही रूप में था। सफाचट दाढ़ी और सर पर छोटे-छोटे बाल कहीं से उसे महंत परिलक्षित नहीं कर रहे थे। एक दर्जन हत्या, अपहरण एवं डकैती की घटनाओं का अंजाम देने वाले इस अपराधकर्मी को देखने के लिए कार्यालय परिसर में भारी भीड़ उमड़ी थी। इस अवसर पर एसपी ने कुख्यात के आत्मसमर्पण को स्वीकार करते हुए अपनी प्रसन्नता जतायी।ड्ढr ड्ढr नियुक्ित के नाम पर करोड़ों की उगाहीड्ढr मोतिहारी (न.सं.)। राजा बाजार स्थित लक्ष्मी भवन में चल रहे ‘जागो सहेली ’ नामक संस्था के कार्यालय पर मंगलवार को की गयी छापेमारी में नियुक्ित के नाम पर करोड़ों की उगाही का भंडाफोड़ हुआ है। 17 हाार से अधिक की राशि के साथ गिरफ्तार कांटी के राजेश कुमार ने इस संस्था द्वारा प्रदेश स्तर पर करोड़ों रुपये वसूलने की बात स्वीकार की। उसने बताया कि वह भी संस्था के जिला प्रभारी बालेन्द्र दास को साढ़े सात हाार देकर प्रखंड प्रभारी के रूप में नियुक्त हुआ है। पंचायत स्तर पर नियुक्ित के नाम पर तीन से चार हाार की राशि के साथ आवेदन लिया जाता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कुख्यात ब्रजेश का आत्मसमर्पण