DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

उत्पादन में कटौती से क्रूड में फिर उछाल

पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन (ओपेक) के उत्पादन घटाने के हैरतअंगेज कदम के बाद विश्व में नीचे गिरते कच्चे तेल के दामों में बुधवार को फिर से उछाल दर्ज किया गया। वियना में चल रही ओपेक की मैराथन बैठक के बाद सदस्य देशों द्वारा अचानक 5,20,000 बैरल प्रति दिन की तेल कटौती की घोषणा से तेल कीमतों में राहत की बाट जोह रहे विकासशील देशों को एक बार फिर झटका लगा। कच्चे तेल की कीमतें जो 100 डॉलर प्रति बैरल के आसपास थीं पुन: बढ़कर आगे निकल गईं। एशियन बाजार में अक्टूबर की आपूर्ति के लिए जहां लाइट क्रूड की कीमत 1.41 सेंट बढ़कर 104.67 डॉलर पर पहुंच गई वहीं नॉर्थ-सी ब्रेंट की कीमत में 1.06 सेंट का इजाफा हुआ और यह 101.40 डॉलर पर रहीं। ओपेक के प्रेसिडेंट और अल्जीरिया के ऊरा मंत्री चाकिब खलील का कहना है कि नया उत्पादन लक्ष्य 2 करोड़ 88 लाख बैरल प्रति दिन रखा गया है जो वर्तमान के उत्पादन से आकलन के मुताबिक 5,20,000 बैरल कम है। विशेषज्ञों का अनुमान था कि ओपेक की आधिकारिक पॉलिसी में कोई बड़ा बदलाव नहीं होगा लेकिन अंदेशा भी था कि कुछ सदस्यों विशेषकर सऊदी अरब द्वारा तेल के आउटपुट में कमी करके उत्पादन को नियंत्रित किया जा सकता है, लेकिन ओपेक की घोषणा पूर्वानुमानों से कहीं आगे रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: उत्पादन में कटौती से क्रूड में फिर उछाल