DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘कृषि वैज्ञानिक गांव की ओर’ कार्यक्रम की रूपरेखा तय

कृषि विभाग ने ‘कृषि वैज्ञानिक गांव की ओर’ कार्यक्रम की रूपरखा तय कर ली है। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार पांच को छोड़कर लगभग सभी जिलों में इस कार्यक्रम की शुरूआत एक दिन होगी। तिथि होगी 15 सितम्बर। उस दिन सभी जिलों के एक-एक प्रखंड में इस कार्यक्रम की शुरूआत होगी। 20 अक्टूबर तक सभी प्रखंडों में इसका आयोजन कर लेना है। उन प्रखंडों का नाम भी तय कर लिया गया है जहां पहला कार्यक्रम आयोजित होगा।ड्ढr ड्ढr लखीसराय, शेखपुरा और औरंगाबाद में यह कार्यक्रम 16 सितम्बर को आयोजित होगा तो बेगूसराय जिले में 17 सितम्बर को। कृषि मंत्री नागमणि ने अपनी इस महत्वाकांक्षी योजना को पांच सितम्बर को लॉंच किया था। उसी दिन यह तय हुआ था कि सभी जिलों में एक साथ शुरू होगी योजना। पहले दिन के आयोजन के लिए जिन प्रखंडों का चयन किया गया है वे मुख्यत: जिला मुख्यालय या उससे सर्वाधिक निकट वाले प्रखंड हैं। कृषि मंत्री ने बताया कि विभाग के वैज्ञानिक जबतक खेतों में नहीं उतरंगे तब तक कृषि विकास का मुख्यमंत्री का सपना पूरा नहीं होगा। इसी बात को ध्यान में रखकर योजना बनायी गयी है। कार्यक्रम तय करने की जिम्मेदारी बामेति को दी गई थी। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को यह निर्देश दिया गया है कि कार्यक्रम के पहले विज्ञापनों और अन्य माध्यमों से इसका भरपूर प्रचार किया जाय ताकि अधिक से अधिक किसान इसका लाभ ले सकें। बाढ़ वाले जिलों में कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘कृषि वैज्ञानिक गांव की ओर’ कार्यक्रम की रूपरेखा तय