DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टाइम फॉरमेट में भी जीते पंकज आडवाणी

मौजूदा विश्व बिलियर्डस और स्नूकर चैम्पियन पंकज आडवाणी ने बुधवार को इतिहास दोहरा दिया। पंकज ने 2005 में भी माल्टा में विश्व बिलियर्डस के प्वाइंट और टाइम फॉरमेट खिताब जीते थे। उसके तीन वर्ष बाद पंकज ने फिर विश्व बिलियर्डस खिताबों का डबल बनाया है। पंकज आडवाणी ने आज ओएनजीसी आईबीएसएफ विश्व बिलियर्डस चैम्पियनशिप टाइम फॉरमेट का खिताब जीत लिया। आडवाणी ने खिताबी मुकाबले में पूर्व एशियाई चैम्पियन देवेन्द्र जोशी को रोमांचक संघर्ष में 2370-2020 अंक से हराकर यह ऐतिहासिक सफलता हासिल कर ली। ‘वंडर बॉय ऑफ द बिलियर्डस’ 23 वर्षीय पंकज ने पिछले सप्ताह पांच सितंबर को प्वाइंट फारमेट में गीत सेठी को मात दी थी। पंकज ने टाइम फॉरमेट के सेमीफाइनल मुकाबले में आठ बार के विश्व चैम्पियन सेठी को हराया था। अपनी संघर्ष क्षमता के लिए जाने जाने वाले देवेंद्र जोशी ने हालांकि छह घंटे तक चले फाइनल में अंतिम सत्र में अंकों का फासला पाटने की भरपूर कोशिश की। लेकिन पंकज को शुरुआती सत्रों में मिली बढ़त ने जोशी के अरमानों पर पानी फेर दिया। पंकज ने पहले सत्र के तीसरे विजिट में 21अंक बनाए। इसके बाद उन्होंने इसी सत्र में फिर 327, 271 और 274 अंक बनाए। दो घंटे लंबे चले इस सत्र के समाप्त होने के वक्त वह देवेंद्र जोशी पर 1274-151 की बढ़त ले चुके थे। हालांकि दूसरे सत्र में देवेंद्र जोशी ने शानदार वापसी की लेकिन पंकज ने इस सत्र की समाप्ति के बाद भी 1812-1033 के साथ अपनी बढ़त कायम रखी। देवेंद्र जोशी ने इस सत्र में 338 और 364 के ब्रेक लगाए लेकिन पहले सत्र में बड़े अंतर से पिछड़ने के कारण वह पंकज के करीब भी नहीं पहुंच सके। तीसरे सत्र में देवेंद्र जोशी पंकज पर भारी पड़े। उन्होंने अपने 37वें विजिट में 557 का आश्चर्यजनक ब्रेक लगाया और पंकज की बढ़त 433 अंक तक समेट दी। लेकिन पंकज ने ठंडे दिमाग से खेलते हुए 300 अंकों की बढ़त बनाए रखी और आखिरकार खिताब पर कब्जा जमा लिया। इस जीत के साथ ही पंकज ने अपना छठा विश्व चैम्पियनशिप खिताब जीता और पांच दिन के भीतर अपना दूसरा विश्व खिताब जीता। दोनों खिलाड़ियों ने ये स्वीकार किया कि पहले सत्र के खेल ने अंतर पैदा किया। आडवाणी ने कहा, ‘खिताब जीतने के लिए इससे बेहतर कोई और समय नहीं हो सकता था।’ उन्होंने कहा कि हालांकि वे इससे आगे की सोच रहे हैं क्योंकि ये जीत उन्हें अपने शहर में मिली हैं। आडवाणी ने कहा, ‘मैं बेहद रोमांचित हूं। अंत में सही परिणाम निकलकर आया है।’ देवेंद्र जोशी ने कहा, ‘आडवाणी इस जीत के वास्तविक हकदार थे। वह दबाव में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी हैं।’ जोशी ने भी माना कि पहले सत्र ने सारा अंतर पैदा किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: टाइम फॉरमेट में भी जीते पंकज आडवाणी