अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

परमाणु कारोबार के लिए भारत ने शुरू की पहल

भारत ने अमेरिका से समझौते के तहत अत्याधुनिक परमाणु तकनीक खरीदने की पहल कर दी है तथा भारतीय परमाणु ऊर्जा विभाग ने अमेरिकी कंपनियों के साथ प्रारंभिक विचार-विमर्श शुरू कर दिया है। अमेरिकी कांग्रेस द्वारा भारत-अमेरिका असैन्य परमाणु सहयोग के 123 समझौते के अनुमोदन की उम्मीद में भारत ने परमाणु कारोबार में यह पहलकदमी की है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने एक वक्तव्य में कहा कि विभिन्न देशों से परमाणु सहयोग 123 समझौते के अनुमोदन के बाद ही शुरू होगा, लेकिन इस संबंध में विभिन्न स्तरों पर पहल कर दी गई है। प्रवक्ता के अनुसार फ्रांस और रूस के साथ हुए परमाणु सहयोग समझौतों को अंतिम रूप देने के लिए भी कदम उठाए गए हैं। भारत ने अमेरिका को अपना यह इरादा बता दिया है कि वह अत्याधुनिक परमाणु तकनीक खरीदना चाहता है। भारतीय परमाणु ऊर्जा निगम ने अमेरिकी कंपनियों से बातचीत शुरू कर दी है। उल्लेखनीय है कि परमाणु सामग्री आपूर्तिकर्ता समूह ने गत छह सितम्बर को भारत पर से परमाणु प्रतिबंध हटा दिए हैं। इसके बाद भारत अंतरराष्ट्रीय परमाणु बाजार में कारोबार करने के लिए स्वतंत्र है। अमेरिकी विदेशमंत्री कोंडोलिजा राइस ने भारत से आग्रह किया था कि वह परमाणु कारोबार में अमेरिकी कंपनियों के हितों का ध्यान रखे। परमाणु विशेषज्ञों का मानना है कि भारत के साथ परमाणु कारोबार में अमेरिका, फ्रांस और रूस की कंपनियों के बीच काफी प्रतिस्पर्धा होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: परमाणु कारोबार के लिए भारत ने शुरू की पहल