अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘भारत में बिजनेस करना मुश्किल काम’

भारत में किसी बिजनेस की शुरूआत करना कोई आसान खेल नहीं। यह कहना है डूइंग बिजनेस रिपोर्ट-200ा। विश्व बैंक और अंतरराष्ट्रीय फाइनेंस कार्पोरशन (आईएफसी) द्वारा जारी इस रिपोर्ट में भारत को 122वीं रैंक दी गई है। बिजनेस की शुरूआत करने में जरूरी विभिन्न औपचारिकताओं को पूरा करने और उसमें लगने वाले समय के आधार पर यह सूची तैयार की गई है। 181 देशों की सूची में सिंगापुर को सर्वोच्च स्थान दिया गया। हालांकि रैंकिंग के मुताबिक पिछले चार वर्षो में भारत की स्थिति में लगातार सुधार आ रहा है। वर्ष 2008 में भारत को 120वां स्थान दिया गया था जो 2007 व 2006 में क्रमश: 134 व 138 था। इस वर्ष रैंकिंग में 2 स्थान की गिरावट दर्ज की गई जिसकी वजह यहां व्यापार से जुड़े विवशता भर समझौते और औपचारिकताओं को बताया गया है। अगर बात बीआरआईसी (ब्राजील, रूस, इंडिया, चीन) के पहलू से की जाए तो चीन को छोड़कर बाकी सभी देशों की रैंकिंग 100 से ऊपर है। रूस की रैंक 2008 के 112 से गिरकर 120 पर पहुंच गई। ब्राजील 125वें स्थान पर है। सिंगापुर के बाद न्यूजीलैंड और यूएस क्रमश: दूसर व तीसर स्थान पर हैं। वर्तमान में टाटा से जुड़े विवाद को देखते हुए इस रिपोर्ट का महत्व और भी बढ़ जाता है क्योंकि देश की इस रैंकिंग में सिंगुर विवाद शामिल नहीं है। यह काफी चिंतनीय विषय है कि अगर टाटा जसी घरलू कंपनी को जब इस तरह की परशानियों से रूबरू होना पड़ सकता है तो इस सूची में हमारा वास्तविक स्थान कहां होना चाहिए।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘भारत में बिजनेस करना मुश्किल काम’