DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रासुका के डंडे से ठंडे पड़े वरुण

पीलीभीत में पिछले दिनों भड़काऊ भाषण देने के कारण उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत जेल में बंद कर दिए गए भाजपा क युवा फायरब्रांड नेता वरुण गांधी ने जेल से छूटने के बाद बुधवार को अपनी पहली जनसभा में कहा कि अहिंसा उनका धर्म है। सुप्रीम कोर्ट से मिली दो हफ्ते की पेरोल पर बाहर आए वरुण गांधी ने बुधवार का पीलीभीत संसदीय सीट स अपना नामांकन भी दाखिल किया। नामांकन से पहले अपने भाषण में जेल प्रशासन पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने यह भी कहा कि वह जेल जाने से नहीं डरते। गांधी के हलफनामे के अनुसार, वरुण के पास चार करोड़ 82 लाख की संपत्ति है लेकिन उनके पास वाहन नहीं है। वह पहली बार लोकसभा चुनाव लड़ रह हैं। पीला कुर्ता और माथे पर तिलक लगाए वरुण के साथ नामांकन के वक्त उनकी मां मेनका गांधी और बरली स भाजपा क प्रत्याशी एवं उनक करीबी संताष कुमार गंगवार मौजूद थ। पीलीभीत मनका गांधी की पारम्परिक संसदीय सीट रही है। परचा भरने से पहले भाजपा प्रत्याशी वरुण गांधी ने नवाबगंज में एक सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा, ‘हिंसा हमार धर्म में नहीं हैं। देश ने मुझे लोगों से प्यार करना सिखाया है। क्षेत्र के लोग ही हमारी शक्ित हैं जो हमार साथ हैं।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रासुका के डंडे से ठंडे पड़े वरुण