अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जयंती पर याद किए गए महाकवि ‘प्रभात’

महाकवि केदारनाथ मिश्र ‘प्रभात’ को उनकी जयंती पर श्रद्धा व आदर के साथ याद किया गया। बिहार हिन्दी साहित्य सम्मेलन के तत्वावधान में सम्मेलन भवन में अध्यक्ष डा.जगदीश पांडेय की अध्यक्षता में जयंती मनी। इस मौके पर हिन्दी साहित्य के विकास में प्रशासनिक व पुलिस सेवा के अधिकारियों के योगदान पर विस्तार से चर्चा की गयी।ड्ढr ड्ढr कविवर प्रभात के पुत्र सरोज कुमार मिश्र ने प्रभात रचित कविताओं का पाठ किया। सेवानिवृत्त आईएएस अधिकारी राम उपदेश सिंह विदेह ने हिन्दी साहित्य के विकास में प्रशासनिक अधिकारियों के योगदान पर और सेवानिवृत्त आईपीएस अधिकारी अनिल कुमार पांडेय ने हिन्दी के विकास में पुलिस सेवा के अधिकारियों के योगदान की चर्चा की। अध्यक्षीय भाषण में सम्मेलन के अध्यक्ष डा. पांडेय ने कहा कि हिन्दी साहित्य के प्रति प्रभात जी में त्याग व समर्पण का भाव था। इस मौके पर नृपेंद्रनाथ गुप्त, डा.ब्रह्मचारी सुरद्र कुमार, डा.जितेंद्र सहाय, स्नेहलता पारूथी, डा. मिथिलेश कुमारी मिश्रा, अनिल सुलभ, डा.जगदीश नारायण चौबे, कमला प्रसाद, रवि घोष, जनार्दन प्रसाद द्विवेदी, आनन्द किशोर शास्त्री, डा.नरश पांडेय चकोर, योगेद्र प्रसाद मिश्रा, शिवदत्त मिश्रा आदि ने भी कविवर प्रभात के कृतित्व व व्यक्ितत्व पर प्रकाश डाला। अतिथियों का स्वागत राम नरश सिंह ने, संचालन डा.शिववंश पांडेय व धन्यवाद ज्ञापन राजकुमार प्रमी ने किया। विनोबा भावे की जयंती मनीड्ढr पटना (सं.सू.)। महात्मा गांधी के आध्यात्मिक उत्तराधिकारी एवं भूदान आंदोलन के प्रणेता संत विनोबा भावे की जयंती गुरुवार को बिहार खेत परिषद् के कार्यालय में मनायी गई। इसकी अध्यक्षता परिषद् के महासचिव सत्य प्रकाश ने की। उन्होंने कहा कि विनोबा जी अद्वितीय मानव थे, जिन्होंने गांधी जी के ग्राम स्वराज की दिशा में भूमिहीन गरीबों की दशा को सुधारने के लिए आंध्र प्रदेश के तेलंगाना स्थित पोचपल्ली गांव से आंदोलन शुरू किया था। इस मौके पर अत्यंत पिछड़ा कल्याण संस्था के अध्यक्ष जयप्रकाश मंडल, केपी राय, अरविंद कुमार, बैजु कुमार, अजंनी कुमार, मिलन सिंह आदि मौजूद थे। इधर संत विनोबा उच्च विद्यालय में पटेल नगर में भी जयंती धूमधाम से मनायी गई। प्राचार्य अरुण कुमार ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की । इस मौके पर स्कूल के शिक्षक और सैकड़ों छात्र मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जयंती पर याद किए गए महाकवि ‘प्रभात’