DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पोलिंग पार्टी को रोका, पुलिस ने चलायी गोली

दीपाटोली कैंट स्थित सुगनु बस्ती में बुधवार को सड़क निर्माण को लेकर पुलिस और ग्रामीणों के बीच िहसक झड़प हुई। झड़प का कारण पोलिंग पार्टी को गांव में जाने से रोकना था। ग्रामीणों की मांग थी कि जब तक सड़क नहीं बनेगी, गांव में चुनाव नहीं होने दिया जायेगा। जाम हटाने के लिए पुलिस को पहले लाठी चार्ज करना पड़ा, परंतु ग्रामीणों द्वारा रोड़ेबाजी करने के कारण पुलिस को गोली चलानी पड़ी। इस घटना में सिटी डीएसपी और जवानों सहित कई ग्रामीण भी घायल हो गये।ड्ढr सड़क बनाने को लेकर ग्रामीणों ने बुधवार को सुबह छह बजे से सड़क जाम कर दी थी। उनका कहना था कि जब तक हमारी मांग पूरी नहीं हो जाती, तबतक पोलिंग पार्टी को गांव में घुसने नहीं दिया जायेगा। सड़क जाम के क्रम में ग्रामीणों ने जब पोलिंग पार्टी नंबर 210 को रोका, तो इसकी सूचना पुलिस प्रशासन के आला अधिकारियों को दी गयी। सूचना मिलते ही पुलिस और प्रशासन के लोग वहां पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया, पर ग्रामीण नहीं माने। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने जब लाठी चार्ज किया तो पुलिस को लाठी चार्ज करते देख ग्रामीण भड़क उठे और उन्होंने जवाब में रोड़ेबाजी शुरू कर दी। मामला बिगड़ता देखकर पुलिस ने करीब 40-से 45 राउंड फायरिंग की और आंसू गैस छोड़े। इस क्रम में तीन ग्रामीण सहित सिटी डीएसपी महेश राम पासवान और कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गये। ग्रामीणों ने सुबह में एक स्कूल में बने बूथ को भी अपने कब्जे में ले रखा था और पोलिंग पार्टी को स्कूल में जाने से रोक रखा था। वे सड़क निर्माण को लेकर राज्यपाल और डीसी को बुलाने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि जब तक सकारात्मक वार्ता नहीं हो जाती, तब तक पोलिंग पार्टी को गांव में जाने नहीं दिया जायेगा। साथ ही धमकी भी दी कि मांग नहीं मानी गयी तो वे लोग वोट का बहिष्कार करंगे।ड्ढr मौके पर एएसपी प्रवीण सिंह, सिटी एसपी रिचर्ड लकड़ा, सिटी डीएसपी महेश राम पासवान, सदर इंस्पेक्टर बी मिश्र, थाना प्रभारी संजय कुमार, डेली मार्केट थाना प्रभारी मिथिलेश कुमार, कांके थाना प्रभारी राजकपूर, कांके सीओ अमित कुमार मौजूद थे। अधिकारियों ने ग्रामीणों को समझाने का काफी प्रयास किया, पर वे मानने को तैयार नहीं थे। बाद में एसएसपी ने लाउडस्पीकर पर ग्रामीणों से आग्रह किया कि वे गैर कानूनी तरीका न अपनाये, बल्कि बातचीत से मामले को सुलझाया जा सकता है। इसके बाद गांव के ओम प्रकाश, जीतेंद्र और संजय सहित कई लोगों के साथ एससपी की बातचीत हुई। एसएसपी ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि चुनाव के बाद इस मामले में बातचीत की जायेगी। साथ ही एसएसपी ने ग्रामीणों से लिखित आश्वासन भी लिया कि किसी भी तरह से पोलिंग पार्टी को परशान नहीं किया जायेगा। एसएसपी के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जाम हटा लिया। पुलिस मामला दर्ज करने की तैयारी मेंड्ढr रांची। पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प के बाद पुलिस 10 से 12 की संख्या में नामजद और 100 से भी अधिक अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करने की तैयारी कर रही है। इससे संबंधित सारी तैयारी पुलिस तय कर चुकी है। वोट का बहिष्कार, पोलिंग पार्टी को रोकना, सरकारी कार्य में बाधा और पुलिस को जान से मारने का प्रयास इन सभी धारा के तहत मामला दर्ज किया जायेगा। पुलिस की ओर से 40 से 45 राउंड गोलियां भी चली हैं। उन सभी का हिसाब पुलिस विभाग जवानों से ले रहा है। चुनाव की प्रक्रिया समाप्त होने के बाद सुगनू बस्ती में हुई गोलीबारी के कांड के संबंध में मामला दर्ज कर लिया जायेगा। इस संबंध में सिटी डीएसपी महेश राम पासवान ने कहा कि घटना के पीछे के कारणों का पता लगाया जा रहा है।ड्ढr सुगनू में फोर्स तैनातड्ढr रांची। सुगनू बस्ती में लाठी चार्ज और फायरिंग की घटना के बाद पूरी बस्ती में तनाव का माहौल है। एहतियात के तौर पर बस्ती के स्कूल में फोर्स और मजिस्ट्रेट को तैनात कर दिया गया है। इसके साथ ही 210 नंबर पोलिंग पार्टी भी इस स्कूल में रात भर रहेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पोलिंग पार्टी को रोका, पुलिस ने चलायी गोली