अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दुराचार के आरोपी मेजर जनरल की होगी बर्खास्तगी

सेना के जनरल कोर्ट मार्शल में एक महिला अधिकारी के साथ दुराचरण करने का प्रयास करने वाले मेजर जनरल एके लाल को दोषी करार दिया गया है और सजा के तौर पर उनकी बर्खास्तगी के आदेश दिए गए है। सेना की 10 कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल राज सुजलाना की अध्यक्षता में कोई मार्शल की कार्रवाई शनिवार देर शाम पूरी हो गई, जिसमें मेजर जनरल लाल पर कैप्टन नेहा रावत द्वारा लगाए गए आरोपों को सही पाया गया। सेना के इतिहास में यह पहला मौका है जब किसी महिला अधिकारी को बुरी नजर से देखने और उसके साथ र्दुव्‍यवहार की कोशिश करने के मामले में मेजर जनरल जैसी ऊंची रैक के अधिकारी को बर्खास्त करने के आदेश दिए गए हैं। मेजर जनरल लाल की इस सजा की पुष्टि सेना प्रमुख के स्तर पर की जाएगी जो महज औपचारिकता मात्र है। इससे पहले सेना की जांच अदालत ने इस अधिकारी को प्रथम दृष्ट्या दोषी पाते हुए कोर्ट मार्शल की प्रक्रिया के आदेश दिए थे। लद्दाख में भारत-चीन सीमा पर एक डिविजन के कमांडिंग आफिसर मेजर जनरल लाल पर सेना की कैप्टन नेहा रावत ने गत सितंबर में आरोप लगाया था कि अधिकारी ने साधना सिखाने के बहाने उन्हें अपने बंगले पर बुलाया और उनकी मर्यादा भंग करने की कोशिश की। इसके बाद लाल को श्रीनगर की 15 कोर से संबद्ध कर दिया गया था, जहां कोर कमांडर लेफ्टीनेंट जनरल एएस शेखों ने मामले की जांच की। कोर आफ सिगनल्स की कैप्टन रावत के खिलाफ मेजर जनरल लाल की पत्नी और बेटी ने चंडीगढ़ में प्रेस कांफ्रेंस की थी, और उनके चरित्र पर सवाल खड़े किए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दुराचार के आरोपी मेजर जनरल की होगी बर्खास्तगी