अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बंगाल से नहीं जाएंगे इनफोसिस व विप्रो : मंत्री

सिंगुर में अनिच्छुक किसानों की जमीन वापस करने को लेकर बवाल चल रहा है। फिर भी राज्य सरकार सूचना प्रौद्योगिकी (आइटी) के लिए 230 एकड़ जमीन मुहैया कराने के लिए तैयार है। सरकार ने मीडिया में आई खबरों का खंडन करते हुए कहा कि आइटी क्षेत्र की कंपनी इनफोसिस और विप्रो ने यहां से अपनी परियोजना हटाने के बार में सरकार से कोई इच्छा प्रकट नहीं की है। राज्य के आइटी व तकनीकी विभाग के मंत्री देवेश दास ने कहा है कि सिंगुर में निवेशकों के लिए माहौल ठीक नहीं हो पाया है, फिर भी किसी कंपनी ने यहां से अपनी परियोजना हटाने की इच्छा जाहिर नहीं की है। हाल ही में मीडिया में खबर आई थी कि इनफोसिस और विप्रो यहां से अपनी परियोजना को हटा कर अन्यत्र जाने की तैयारी में हैं। मंत्री ने कहा कि विप्रो और इंफोसिस को इस वर्ष के अंत में 0 एकड़ जमीन दी जाएगी। इसी तरह आइटीसी इनफोटेक को इसी वर्ष के भीतर 50 एकड़ जमीन दी जाएगी। इसके लिए आवश्यक भूखंड एक निजी कंपनी आकाश निर्माण प्राइवेट लिमिटेड द्वारा खरीदी जायेगी। विप्रो पहले से ही साल्टलेक में काम कर रही है, जबकि आइटीसी इनफोटेक और इनफोसिस पहली बार राज्य में अपनी इकाई लगाने जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बंगाल से नहीं जाएंगे इनफोसिस व विप्रो : मंत्री