DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दो टूक

बाढ़ बिहार में आयी, देश का कलेजा फट गया। विपदा की घड़ी में हर कोने से इतनी मदद पहुंची कि बिहार सरकार को कहना पड़ा-बस। बच्चे, बड़े, मजदूर, औरतें- जिनसे जो बन पड़ा, किया। मदद के इस जज्बे ने विपदा पीड़ितों के जख्मों पर मरहम का काम किया। पर राजधानी में कुछ युवा सड़क पर बस, ट्रक, गाड़ियां रोककर दान मांगते दिख रहे हैं। इनका अंदाज तल्ख है, ये जोर-ाबरदस्ती करते हैं। ऐसे कृत्य से मदद के जज्बे को धक्का लगता है। राहत अभियान में जोर-ाबरदस्ती का क्या काम। ये जो बटोर रहे हैं, वह सही जगह जायेगी या नहीं, कहना मुश्किल है। ऐसे युवा रक्षा में हत्या का पाप न करं, क्योंकि तब मदद के जज्बे से ही विश्वास उठ जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दो टूक