अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोसी तटबंध:राजनीति चरम पर

राजद ने कोसी के तटबंध को तोड़ने का मुख्य अपराधी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को करार दिया है। पार्टी की ओर से पूर्व जल संसाधन मंत्री और राजद विधायक जगदानंद तथा प्रांतीय सचिव डा. निहोरा प्रसाद यादव ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में मुख्यमंत्री के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करते हुए कहा कि उनका अध्याय पूरा हो गया है। नीतीश कुमार आज से चार्जशीटेड हो गए और उनकी वही सजा होनी चाहिए जो धारा 302 के मुजरिम की होती है।ड्ढr ड्ढr जनता अपनी अदालत में सजा का एलान करगी। आरोप पत्र में 26 आरोपों की सूची है। जगदानंद ने कहा कि यह झूठ है कि कोसी का तटबंध नदी की धारा बदलने के कारण टूटा है। तटबंध सरकारी लापरवाही के कारण टूटा और उसके बाद नदी की धारा बदली। 17 अगस्त तक झूठ बोला जाता रहा कि सभी तटबंध सुरक्षित हैं। 5 से 18 अगस्त तक मुख्यमंत्री स्पर को कटा हुआ देखते रहे। इसके बचाव के लिए स्थल पर कोई सामग्री नहीं थी। तटबंध का स्पर टूटने के अंतिम दिन तक कैटगरी ए रिस्क नहीं घोषित किया गया। त्वरित तकनीकी व प्रशासनिक सहयोग के लिए वीरपुर के हवाई अड्डे का उपयोग नहीं किया गया। कटाव निरोधी कार्यो के वार्षिक कैलेंडर के अनुसार भी राज्य सरकार ने काम नहीं किया। काठमांडू में स्थित बिहार का कार्यालय समय पर सक्रिय नहीं हुआ। इस कार्यालय का फैक्स कटा हुआ है। कर्मचारियों के वेतन, कार्यालय खर्च और गाड़ियों के ईंधन आदि के लिए अप्रैल से ही पैसा बंद है। फैक्स बंद होने के कारण मुख्य अभियंता के सभी पत्र इस कार्यालय को बांध टूटने के बाद 23 अगस्त को मिले। उन्होंने कहा कि उनके द्वारा उठाए गए किसी भी प्रश्न का जवाब यह सरकार नहीं दे पाई है। इन मसलों पर वे कहीं भी मुख्यमंत्री के साथ सार्वजनिक बहस के लिए तैयार हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोसी तटबंध:राजनीति चरम पर