DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वैज्ञानिकों से सवालों की झड़ी लगाई किसानों ने

राज्यभर के कृषि वैज्ञानिक और अधिकारी जब गांवों में एकसाथ उतर तो किसानों ने सवालों की झड़ी लगा दी। वैज्ञानिकों से ली कृषि की नई -नई तकनीक की जानकारी तो अधिकारियों ने सरकारी योजनाओं के बार में उन्हें बताया। इसी के साथ राज्य के लगभग तीस जिलों में ‘कृषि वैज्ञानिक गांव की ओर’ अभियान शुरू हो गया। इस अभियान के माध्यम से हर किसान की समस्या तक वैज्ञानिकों को पहुंचाने का सरकार का प्रयास है। जिले में अभियान की शुरुआत एक समारोह के साथ की गई। आयोजन हर प्रखंड में होना है। समस्तीपुर जिले में सर्वाधिक समारोह आयोजित किये गये जहां स्वयं कृषि मंत्री नागमणि उपस्थित थे।ड्ढr ड्ढr सर्वाधिक सवाल फसलों में लगने वाले कीट-व्याधि को लेकर थे तो नई सरकारी योजनाओं में भी किसानों ने खूब रुचि ली। राज्यभर के कार्यक्रमों की मॉनीटरिंग के लिए भी राजधानी पटना में केन्द्रीयकृत व्यवस्था की गई थी। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार किसानों ने बागवानी मिशन की योजनाओं में भी खूब दिलचस्पी ली। जानकारी प्राप्त करने की होड़ थी तो शिकायतों का भंडार भी था। कई जगह तो जिले के अधिकारियों की पहचान को लकर सवाल खड़े हो गये। किसानों ने स्पष्ट कहा कि जिनकी जिम्मेदारी है योजनाओं की जानकारी देने की, उन अधिकारियों को आज तक वे पहचानते भी नहीं। इस अभियान के माध्यम से सरकार ने कृषि से जुड़ी समस्याओं तक पहुंचने का भरसक प्रयास किया तो किसानों ने दिल की भड़ास भी निकाली। कई किसानों ने कहा कि वे उच्च तकनीक अपनाना चाहते हैं लेकिन सिर्फ एक बार जानकारी दे देने से कुछ नहीं होगा। समय-समय पर वैज्ञानिकों का मार्गदर्शन प्राप्त होना चाहिए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वैज्ञानिकों से सवालों की झड़ी लगाई किसानों ने