DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पितृमुक्ित का महापर्व शुरू

पितृमुक्ित के महापर्व पितृपक्ष मेले के प्रथम दिन हजारों श्रद्धालुओं ने पवित्र फल्गु नदी में स्नान कर अपने पितरों को जलांजलि दी तथा देवघाट व विष्णुपद मंदिर के प्रांगण में पिंडदान किया। फल्गु नदी का देवघाट और विष्णुपद मंदिर का प्रांगण आज प्रात: से ही वैदिक मंत्रोच्चार से गुंजने लगा। श्री विष्णुचरण के दर्शन के लिए मंदिर में श्रद्धालुओं की पूरे दिन लाइन लगी रही। मेले में देश के कोने-कोने से आए पिंडदानियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो और चोर-उचक्के उनके सामान को नहीं उड़ाए इसके लिए पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मेला क्षेत्र में भ्रमणशील हैं। विष्णुपद मंदिर में जाने वाले तीर्थयात्रियों को मेडल डिटेक्टर द्वार से होकर गुजरना पड़ रहा है। जगह-जगह पर क्लोज सर्किट कैमरा भी लगाया गया है। प्रमंडलीय आयुक्त डा. के पी रमैया और डीएम संजय कुमार सिंह ने मेला क्षेत्र का भ्रमण किया और व्यवस्था का जायजा लिया।ड्ढr ड्ढr इस बीच, फल्गु नदी में पानी कम रहने से भारी संख्या में आए तीर्थयात्री फल्गु नदी के बीचोंबीच बालू का ढेर पर पिंडदान किया। आज रंग-बिरंगे परिधानों में रहे पिंडदानियों से फल्गु नदी की छंटा काफी मनोरम लग रही थी। पिंडदानियों का आगमन रेल और सड़क मार्ग से लगातार हो रहा है। एक अनुमान के अनुसार अब तक 15 हजार पिंडदानी यहां आ चुके हैं। तीर्थयात्रियों को लेकर 50 बसें विभिन्न प्रांतों से यहां पहुंच चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पितृमुक्ित का महापर्व शुरू